आओ नया भारत बनाएं

राजेश पुरोहित
झालावाड़(राजस्थान)
*******************************************************
जहाँ जाति धर्म के फसाद न हो।
जहाँ व्यर्थ के रोज आडम्बर न हो॥
बेटियाँ मुक्त गगन में उड़े जहाँ पर,
उन्हें दहशत और न कोई डर हो॥
हिन्दू-मुस्लिम गले मिले जहाँ पर।
न मंदिर-न मस्जिद के झगड़े हो॥
विज्ञान व तकनीकी का युग हो।
मेरा देश सदा  ही विकसित हो॥
संत का भेष फिर बदनाम न हो।
रावण कालनेमि-सा कोई न हो॥
सियासत में कोई बेईमान न हो।
निर्दोषों को जहाँ कारावास न हो॥
सब सोचें विकास की बात केवल।
व्यर्थ का न कोई जहाँ विवाद हो॥

Hits: 44

आपकी प्रतिक्रिया दें.