`एवेंजर्स-इन्फिनिटी वार`…..विश्लेषण

इदरीस खत्री
इंदौर(मध्यप्रदेश)
*******************************************************

भाग-३ …………………………
ऐसी क्या आफत आने को है कि,उससे निपटने के लिए एक,दो या दस परम नायक(सुपर हीरो) भी कम पड़ गए जो सारे परम नायक को एकजुट होना पड़ रहा हैl सारे परम नायक का एकजुट होकर लड़ने के लिए तैयार होना ही अन्देशा पैदा कर रहा है कि,सामने खलनायक कितना खतरनाक होकर उसकी ताकत कितनी असीम होगी,साथ ही वह किस कदर विनाशकारी होगाl वह खलनायक है थॉनोसl अब तीसरे भाग में सबसे पहले थॉनोस को जान लेते हैंl थॉनोस का पहला जिक्र हुआ १९७३ की कॉमिक्स बुक मेंl यह टाइटन ग्रह के राजा का बेटा था,क्योंकि पैदाइशी इसमें शक्लो-सूरत म्यूटेंट वाली थी तो उसकी माँ ने भी मारने की कोशिश की लेकिन पिता ने बचा लिया थाl बड़े आकार में दानवरूपी शरीर,बदसूरत चेहरा और असीम ताकतों का मालिक जब जवान हुआ तो एक मंदिर की मौत की देवी से प्यार हो गयाl उसे लुभाने के लिए ब्रह्मांड के कई ग्रह समाप्त करके उनकी शक्तियां सोखने लगा और शक्तिशाली होता गयाl फिर एक दिन अपने ग्रह टाइटन को भी बर्बाद करके सभी लोगों को जान से मार दियाl इसके बाद टाइटन का राजा बनकर विनाश के लिए आगे बढ़ गयाl उसे पता चलता है कि यदि पूरे ब्रह्मांड का विजेता संग राजा बनना है,तो `करिश्माई पत्थर` (इन्फिनिटी स्टोन्स` या करिश्माई नगीने)प्राप्त करने होंगे
जो ब्रह्मांड में ६ हैंl जो उन कुल ६ पत्थरों को प्राप्त कर लेगा,वह ब्रह्मांड का सबसे ताकतवर शख्स होगाl जिसके पास ६ पत्थर होंगे,वही ७ वा पाकर अजर-अमर हो जाएगाl
अब एक चर्चा करिश्माई पत्थर या जेम्स पर भीl
-टाइम स्टोन्स-कालचक्र से परे,पहली बार यह स्टोन `डॉक्टर स्ट्रेंज` की फ़िल्म में दिखा था जिसमें डॉक्टर स्ट्रेंज सेंवफल आधा खाकर उसे वापस पूरा बना देते हैंl


इस पत्थर की खासियत यह है कि इसके इस्तेमाल से भूतकाल-भविष्यकाल में बिना बाधा के सफर कर सकते हैंl
-स्पेस स्टोन-ब्रम्हाण्ड में आने-जाने के लिए इस पत्थर का इस्तेमाल होता हैl यह पहली बार `कैप्टन अमेरिका-फर्स्ट ऐवेन्जर्स` में दिखा थाl फिर ऐवेंजर्स १ में थॉर के भाई लोकी ने ब्रम्हाण्ड से इसी पत्थर की मदद से सेना बुलाकर धरती पर युद्ध छेड़ा थाl फिर थॉर यह अपने ग्रह एस गार्ड ले जाता हैl
-रॉयलिटी स्टोन-`गार्जियन ऑफ गैलेक्सी` में दिखा था,जिस पत्थर में असीम ताकत छुपी हुई हैl
-पॉवर स्टोन-यह भी `गार्जियन ऑफ गैलेक्सी` में ही देखा गया था,जिसमें ही एक किरदार `कलेक्टर` जो इन पत्थरों को शक्ति समझता है और एकत्रित करना चाहता हैl यही कारण है कि,थॉनोस सबसे पहले कलेक्टर के पास पहुँचे, फिर जंग शुरू करेl
-माइंड स्टोन-`ऐवेंजर्स एज ऑफ अल्ट्रॉन` में दिखा था,जो विजन के सर में लगाया गया थाl विजन लाल रंग का दानव रूपी परम नायक जो एकमात्र नायक है और थॉर का हथौड़ा उठा सकता हैl
-डेथ स्टोन-मृत्यु पत्थर,जन्म-मरण के चक्र से बाहर कर देने की शक्ति वाला हैl इसकी मदद से जन्म-मृत्यु पर नियंत्रण हो जाता हैl
एक बात अलग से कि,जो भी शख्स यह यह ६ पत्थर पा लेगा,उसे इनाम में सातवां पत्थर खुद मिल जाएगा, जिसका नाम `ईगो स्टोन`हैl यह सातों जिसके पास होंगे, उसके लिए विनाश की देवी मिनेसिस वैसा ही काम करेगी,जैसा सातों पत्थरों का मालिक चाहेगाl मिनेसिस बेशुमार ताकत की मालकिन होकर विनाश की देवी हैl
यही कारण है-थॉनोस का धरती पर आने और इन पत्थरों पर कब्ज़ा करने काl यही कारण है सारे परम नायक का थॉनोस से पूरी ब्रह्मांड की सुरक्षा के साथ शांति कायम करने काl
दोस्तों,अब आपको स्पष्ट हुआ होगा कि,कैसे मार्वल स्टूडियो की सारी फिल्मों के तार एक-दूसरे से जुड़े हुए हैंl
(अगले भाग में चर्चा-किस अमेरिकन अभिनेता को किस भारतीय ने आवाज़ दी है?)

परिचय : इंदौर शहर के अभिनय जगत में १९९३ से सतत रंगकर्म में इदरीस खत्री सक्रिय हैं,इसलिए किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। परिचय यही है कि,इन्होंने लगभग १३० नाटक और १००० से ज्यादा शो में काम किया है। देअविवि के नाट्य दल को बतौर निर्देशक ११ बार राष्ट्रीय प्रतिनिधित्व नाट्य निर्देशक के रूप में देने के साथ ही लगभग ३५ कार्यशालाएं,१० लघु फिल्म और ३ हिन्दी फीचर फिल्म भी इनके खाते में है। आपने एलएलएम सहित एमबीए भी किया है। आप इसी शहर में ही रहकर अभिनय अकादमी संचालित करते हैं,जहाँ प्रशिक्षण देते हैं। करीब दस साल से एक नाट्य समूह में मुम्बई,गोवा और इंदौर में अभिनय अकादमी में लगातार अभिनय प्रशिक्षण दे रहे श्री खत्री धारावाहिकों और फिल्म लेखन में सतत कार्यरत हैं। फिलहाल श्री खत्री मुम्बई के एक प्रोडक्शन हाउस में अभिनय प्रशिक्षक हैंl आप टीवी धारावाहिकों तथा फ़िल्म लेखन में सक्रिय हैंl १९ लघु फिल्मों में अभिनय कर चुके श्री खत्री का निवास इसी शहर में हैl आप वर्तमान में एक दैनिक समाचार-पत्र एवं पोर्टल में फ़िल्म सम्पादक के रूप में कार्यरत हैंl 

Hits: 12

Leave a Response