केवल शैतान नजर आता है…

जितेन्द्र वेद 
इंदौर(मध्यप्रदेश)
*************************************************************
भूकंप-तूफान नहीं आया है इस शहर में मेरे यारों, 
हर ओर सरकारी बुलडोजरों का हैवान नजर आता है।
मुसलसल हैं झगड़ों-दंगों की उनकी कोशिशें, 
मौतों में उन्हें मुकम्मल वोट नजर आता है।
रकाबी है खाली हजारों-लाखों भूखे बच्चों की, 
पर उन्हें हर रकाबी में मेहताब नजर आता है।
हर तरफ बेटियाँ शिकार होती हैं जब इस मुल्क में, 
उन्हें सिने देवियों में भगवान नजर आता है।
कहाँ तो तय था अच्छा दिन हर शख्स के लिए, 
अब हादसों का शहर बियाबान नजर आता है॥

Hits: 29

आपकी प्रतिक्रिया दें.