गुरू

रचना सिंह ‘रश्मि’
आगरा(उत्तरप्रदेश)
************************************************************

गुरु
को करते
सब हैं प्रणाम,
जग में इन-सा
नहीं हैं कोई महान।

गुरु
से मिलता
ज्ञान क,ख,ग,
हमें पढ़ाते भविष्य
को उज्जवल बनाते।

गुरु
का सदा
करो सम्मान,
मिटाते हैं अज्ञान
बनाते अच्छा इंसान।

गुरु
जीवन की
राह दिखाते,
जीना सिखलाते
ऊंच-नीच बैर मिटाते।

गुरु
बिना होता
नहीं कोई महान,
प्रथम गुरु माँ होती
करो दंडवत प्रणाम॥

Hits: 9

आपकी प्रतिक्रिया दें.