प्रेम-द्वन्द

निशा निइ्क ‘ख्याति’
दिल्ली

********************************************************************

लङकपन के चले जाने से,
यौवन का एक दरवाजा खुला
आहट,उसमें से
एक रोशनी आँखों पर लगी,
आँखों पर तेज चमक
और वो चौंधिया गई,
बस एक क्षण का विलम्ब…
और वो रोशनी मन को भा गई।

अंदर कुछ था,जो विचलित था,
उस रोशनी से उन्मुक्त होकर
थोड़ा डरा-डरा सहमा था,
अपनी ही की प्रवृतियों पर
थोड़ा संकोच था,
मधुमास में किया जो प्रणय,
उसमें अब नजर आता दोष था।

अरूण कि लालिमा,
और तेज रोशनी में
अपनापन किसमें ज्यादा था,
कहना थोड़ा मुश्किल था
फर्क करना कठिन हो गया,
चुनना और भी मुश्किल हो गया
कुछ कमियाँ लालिमा में नजर आती,
तो कुछ कमियाँ तेज रोशनी में
मेरे समझ से परे,ये द्वन्द क्या था…॥

परिचय-साहित्यिक उपनाम ‘ख्याति’ रखने वाली निशा निइ्क की जन्म तारीख २० अगस्त १९९६ और जन्म स्थान-बारा-गुरूआ(गया जिला)है॥ बिहार राज्य की निवासी सुश्री निशा फिलहाल दिल्ली में बसी हुई हैं। भाषा ज्ञान-हिन्दी,अंग्रेजी एवं मग्घी का है। आप ब्लॉग सहित सामाजिक मीडिया में लेखन में सक्रिय हैं। लेखन विधा-स्वच्छंद है।

Hits: 9

आपकी प्रतिक्रिया दें.