बातें कुछ उत्थान की

शिवम यादव
शिवपुरी (मध्यप्रदेश)
************************************************************************
आओ भैया तुम्हें बता दें,बातें कुछ उत्थान की।
वरना समझो है बर्बादी,अपने हिंदुस्तान कीll
समय से सोना-जगना सीखो,समय से पढ़ना-लिखना,
अच्छे-अच्छे काम करो तुम,कभी ना आलस करना।
कभी न इच्छा करना भैया,बीड़ी गुटखा पान की,
आओ भैया तुम्हें बता दें…ll

मात-पिता की सेवा करना,बनकर श्रवणकुमार तुम,
आशीष तभी पाओगे भैया,उनसे बेशुमार तुम।
सदा ही इच्छा रखना भैया,गुरुओं के सम्मान की,
आओ भैया तुम्हें बता दें…ll

कभी न चोरी करना भैया,कितनी तुम्हें जरूरत हो,
नफरत भी तुम कभी न करना,चाहे कोई बदसूरत हो।
सदा जिंदगी जीना भैया सच्चाई-ईमान की,
आओ भैया तुम्हें बता दें…ll

हिम्मत हार के थक मत जाना अपनी मंजिल पाने में,
पूरे मन से करना मेहनत,होगा नाम जमाने में।
जीवन में चिंता मत करना कभी नफे-नुकसान की,
आओ भैया तुम्हें बता दें…ll

दुर्व्यसनों में कभी न पड़ना,चाहे जितना जोर पड़े,
अच्छे गुण धारण करना,चाहे कितने मोड़ पड़े।
पहचान यही होती है बंधु,इक अच्छे इंसान की,
आओ भैया तुम्हें बता दें…ll

जिस देश खाते-पाते हो,उस हिंद का कर्ज चुकाना है,
हर भारतवासी भाई अपना,भाई का फर्ज निभाना है।
रक्षा तुम ही को करना मित्रों,भारत मां की आन की,
आओ भैया तुम्हें बता दें,…l

आओ भैया तुम्हें बता दें,बातें कुछ उत्थान की।
वरना समझो है बर्बादी,अपने हिंदुस्तान कीll

परिचय- शिवम् यादव का जन्म ३० जून १९९९ को ग्राम टोड़ा करैरा(जिला शिवपुरी,मध्यप्रदेश)में हुआ हैl वर्तमान में इसी ग्राम में निवासरत हैंl आप फिलहाल बी.एस-सी. में अध्ययनरत हैंl कार्यक्षेत्र में वर्तमान में प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी (ग्वालियर) जारी हैl चित्रकारी के माध्यम से भी यह समाजसेवा करते हैंl इनकी लेखन विधा-गीत,छंद,मुक्तक तथा लेख आदि है। शिवम् यादव द्वारा रची गई रचनाओं का दैनिक समाचार पत्रों आदि में प्रकाशन हुआ हैl कुछ संस्थान द्वारा सम्मान-पत्र दिए गए हैंl श्री यादव की लेखनी का उद्देश्य-राष्ट्र जागरण,देशभक्ति हैl आपके लिए लेखन में प्रेरणा पुंज स्वामी विवेकानंद,भगतसिंह,राज गुरू,सुखदेव,आजाद और बोस हैंl

Hits: 64

आपकी प्रतिक्रिया दें.