मतदाता-पच्चीसी

बाबूलाल शर्मा
सिकंदरा(राजस्थान)
*************************************************
जागरूक होकर करो,मतदाता मतदान।
राजधर्म निर्वाह को, करिये ये शुभदान॥

सब कामों को छोड़कर,करना है यह काम।
एक दिवस मतदान का,बाकी दिन आराम॥

सही करो मतदान तो,हो उत्तम सरकार।
मन का प्रत्याशी चुनो,मत देकर हर बार॥

डरो नहीं,झिझको नहीं,रहे प्रशासन संग।
अच्छा प्रत्याशी चुनो,बन लोकतंत्र के अंग॥

अब आलस को त्यागिए,चलो बूथ परआज।
निर्भय हो मतदान कर,लोकतंत्र के काज॥

मन से जो मतदान हो,हो अच्छी सरकार।
कर चुनाव सरकार का,सुख से जीवन सार॥

पहचान-पत्र साथ ले,जाना देने वोट।
आना नहीं है लोभ में,भय,दारू या नोट॥

ई.वी.एम. मशीन से,करना है मतदान।
यह अपना अधिकार है,इसको सब लें जान॥

सबको प्रेरित कर चलो,करना है मतदान।
मत के बल सरकार है,लोकतंत्र की शान॥

निष्पक्षी मतदान से,हो चुनाव हर बार।
अच्छे नेता जीतकर,बने भली सरकार॥

लोकतंत्र की रीढ़ हो,मतदाता भगवान।
तुमसे ही सधते सदा,सब जन के अरमान॥

अच्छे लोगों को चुनो,बने भली सरकार।
सबका साथ विकास हो,नव विचार संचार॥

सर्व मुख्य अधिकार है,लोकतंत्र मतदान।
इसका सद उपयोग हो,रहो मती अनजान॥

बी.एल.ओ. से बात कर,नाम सूचना जान।
साथ रखो पहचान भी,फिर करना मतदान॥

झूठे झाँसों से बचो,अंतर्मन की मान।
जाति-पंथ को भूलकर,करना है मतदान॥

सभी प्रलोभन त्याग के,रख मन का ईमान।
अच्छे से अच्छा चुनें,मन से कर मतदान॥

नागरिकों के काम हो,ऐसी हो सरकार।
सबक सुने नुमाइंदा,मतदाता मनुहार॥

मूल तत्व मतदान है,लोकतंत्र की शान।
निर्माता सरकार के,मतदाता हैं जान॥

वर्ष अठारह आयु हो,लिख सूची में नाम।
मतदाता बन नागरिक,वोट देय आराम॥

बहू-बेटी सब साथ में,मतदाता अधिकार।
सोच-समझ मतदान कर,सपने हों साकार॥

मत की शक्ति अनूप है,करो वोट भरपूर।
जाति-पाँति लालच बला,इनसे रहकर दूर॥

संसद और विधायिका,हैं सब मत के जोर।
जागरूक मतदान हो,सत प्रेरण पुरजोर॥

जनता के सेवक चुनो,कर्मठ और निष्काम्।
मतदाता भगवान हैं,जब चुनाव हों आम॥

बहकावे में दे दिया,तुमने गर जो वोट।
पाँच बरस पछताओगे,पड़े हकों पर चोट॥

दल दलदल में मत पड़ो,व्यक्ति चुनो महान।
लोकतंत्र मजबूत हो,हम भी लगें सुजान॥

परिचय : बाबूलाल शर्मा का साहित्यिक उपनाम-बौहरा हैl आपकी जन्मतिथि-१ मई १९६९ तथा जन्म स्थान-सिकन्दरा (दौसा) हैl वर्तमान में सिकन्दरा में ही आपका आशियाना हैl राजस्थान राज्य के सिकन्दरा शहर से रिश्ता रखने वाले श्री शर्मा की शिक्षा-एम.ए. और बी.एड. हैl आपका कार्यक्षेत्र-अध्यापन(राजकीय सेवा) का हैl सामाजिक क्षेत्र में आप `बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ` अभियान एवं सामाजिक सुधार के लिए सक्रिय रहते हैंl लेखन विधा में कविता,कहानी तथा उपन्यास लिखते हैंl शिक्षा एवं साक्षरता के क्षेत्र में आपको पुरस्कृत किया गया हैl आपकी नजर में लेखन का उद्देश्य-विद्यार्थी-बेटियों के हितार्थ,हिन्दी सेवा एवं स्वान्तः सुखायः हैl

Hits: 6

आपकी प्रतिक्रिया दें.