रक्षा करो माँ मेरी तुम

प्रिया देवांगन ‘प्रियू’
पंडरिया (छत्तीसगढ़)
***********************************************************************


माँ दुर्गा के चरणों में मैं,
अपना शीश झुकाती हूँ।
करती हूँ मैं रोज सेवा,
चरणों में शीश नवाती हूँll

आशीर्वाद दे दो माता,
मैं छोटी-सी बालिका।
रक्षा करो माँ मेरी तुम,
बन करके तुम कालिकाll

तुम ही दुर्गा तुम ही काली,
तुम ही हो गौरी माता।
मैं अज्ञानी बाला हूँ,
पूजा पाठ न मुझे आताll

खड़े हुए हैं हाथ जोड़कर,
भक्त तुम्हारे दरबार में।
आशीर्वाद दे दो माता,
आये हैं तेरे द्वार मेंll

Hits: 5

आपकी प्रतिक्रिया दें.