वतन

बोधन राम निषाद ‘राज’ 
कबीरधाम (छत्तीसगढ़)
********************************************************************
चलो आज करते,नमन देश को।
यहाँ के सभी राज्य,परिवेश को॥

जमाना भुला ना,सके वीर को।
करो याद उनको,बड़े धीर को॥
हटा दो झमेला,यहाँ क्लेश को।
चलो आज करते,नमन देश को॥

महा देश भारत,यही है वतन।
हमारा तुम्हारा,सभी हो चमन॥
बहारों सजा दो,नया भेष को।
चलो आज करते,नमन देश को॥

गुलामी नहीं आज,आजाद हो।
न भारत यहाँ फिर,न बर्बाद हो॥
कभी हम न छोड़ें यहां रेश को।
चलो आज करते,नमन देश को॥
यहाँ के सभी राज्य,परिवेश को॥
(विधान-१२२ १२२ १२२ १२)

Hits: 22

आपकी प्रतिक्रिया दें.