हर रंग से है प्यार…

कृणाल प्रियंकर
अहमदाबाद(गुजरात)
******************************************************

कितनी रंगों भरी है हमारी दुनिया,
हर रंग की कुछ अलग है बात।

कोई भर दे खुशियों से हमारा जहां,
तो कोई कराता अकेलेपन का एहसास।

लाल रंग लाता प्यार का संदेशा,
पर वही देता खतरे का भी संदेशा।

सफ़ेद रंग जो है शांति का,
वही प्रतीक भी है मायूसी का।

पीला रंग तो सबसे अलग सबसे खास है,
क्योंकि,उसमें बसता दोस्ती का एहसास है।

हरे रंग की बात निराली,
उसमें छुपी है अलग-सी खुशहाली।

ये तो है हमारी ज़िंदगी का अहम हिस्सा,
करते बयान अलग-अलग वक़्त पे हमारा किस्सा।

बहुत मुश्किल है चुन पाना कोई एक इनमें से,
इसलिए मुझे प्यार है ज़िन्दगी के हर एक रंग से॥

परिचय- गुजरात राज्य के अहमदाबाद के निवासी कृणाल प्रियंकर  ने वाणिज्य से स्नातक की पढ़ाई की है।आप वर्तमान में ग्रामीण विकास विभाग(गुजरात) में कार्यरत  हैं। आपको शुरु से ही कविताओं से विशेष लगाव रहा है,तथा कविताएं पढ़ना-लिखना बेहद पसंद है। आपके लेखन  का उदेश्य मन की खुशी है। 

Hits: 6

आपकी प्रतिक्रिया दें.