छन्द

45 views

लड़ाई

संजीव शुक्ल 'सचिन' पश्चिमी चम्पारण(बिहार) ****************************************************************** मन के भावों को प्रदर्शित, कलमकार करता है। सत्य की खातिर मृत्यु...

34 views

भाषा 

वीरेन्द्र कुमार साहू गरियाबंद (छत्तीसगढ़) ****************************************************** भाषा बोली शान अपनी खुद्दारी का ताज है। उनको ही मिल सकता...

58 views

भारत देश

कृष्ण कुमार सैनी ‘राज’ दौसा(जयपुर ) *************************************************** प्राणों से भी प्यारा है जो भारत महान मेरा, इसका बना...

64 views

झगड़ा

वीरेन्द्र कुमार साहू गरियाबंद (छत्तीसगढ़) ****************************************************** झगड़ा कभी न कीजिए,मित्र-परिजन के संग। मिल-जुलकर रहिए सदा,घुले प्रेम का रंग॥...

70 views

माता

वीरेन्द्र कुमार साहू गरियाबंद (छत्तीसगढ़) ****************************************************** माता सम इस लोक में,दूजा नहीं न कोय। घर माताजी के बिना,मंदिर...

142 views

करके निश्चय अब उठो तुम

शिव सागर तिवारी ‘सुल्तानपुरिया’ सुल्तानपुर(उत्तरप्रदेश) ********************************************************************** निशा देख भू भंगिमा पर, प्रसून भी करता बसेराl  सूर्य के इस...

32 views

लावनी छंद

मदन मोहन शर्मा ‘सजल’  कोटा(राजस्थान) **************************************************************** सबके मन को भाने वाला,राखी का त्योहार बना, भाई बहिन के' पवित्र प्यार...

36 views

आजा वर्षा

बाबूलाल शर्मा सिकंदरा(राजस्थान) ************************************************* (रचना शिल्प:८ मात्रिक छंद) भर चौमासा, मरू निराशा। सूखा सावन, मन है प्यासा। मेघ न...

114 views

जीवन माला

राजेश पड़िहार प्रतापगढ़(राजस्थान) *********************************************************** कोख पले जब है कोई शिशु,क्या गोरा है क्या काला। मालिक कैसे भेद करेगा,वह...

67 views

ईश वंदन 

बाबूलाल शर्मा सिकंदरा(राजस्थान) ************************************************* (रचना शिल्प:११२१२,११२१२,११२१२,११२१२) हर श्वाँस में मन आस-सी, निभती रही जग में प्रभो। मन में...