राष्ट्रीय

42 views

स्वार्थी मनुष्य के दिल में कितना जहर

  संजय जैन  मुम्बई(महाराष्ट्र) ************************************************ आज स्वार्थवृत्ति इतनी अधिक बढ़ गई है कि,अपने सामान्य स्वार्थ के लिए भी...

47 views

आपातकाल…अनुशासन पर्व जरुरी

डॉ.अरविन्द जैन भोपाल(मध्यप्रदेश) ***************************************************** भारतवर्ष विदेशियों द्वारा लगभग २००० वर्ष गुलाम रहा। सन १८५७ के ग़दर से लेकर...

42 views

नशे का नशा

हेमेन्द्र क्षीरसागर बालाघाट(मध्यप्रदेश) ***************************************************************      दिल पे नशा ये भारी है,सबसे बडी बीमारी है। कुछ पल का नशा सारी...

73 views

ज़रुरी है पृथ्वी की सुरक्षा

वाणी बरठाकुर 'विभा' तेजपुर(असम) *************************************************************     शरीर में ज्यादा उत्ताप महसूस करना ही गर्मी है। भारत की...

34 views

योग क्या है ?

डॉ.अरविन्द जैन भोपाल(मध्यप्रदेश) ***************************************************** विश्व योग दिवस विशेष................................................ जिस भी जीव को शरीर मिला है,उसको स्वस्थ बनाने के...

95 views

प्राकृतिकता बनाम कृत्रिमता

लिली मित्रा फरीदाबाद(हरियाणा) **************************************************************** प्राकृतिकता ईश्वर की देन है,और कृत्रिमता मानव की। वह ईश्वर प्रदत्त हर स्वाभाविक वस्तु...

52 views

मजबूरी में जहर बेच रही माताएं

संजयसिंह राजपूत दादर(उत्तर प्रदेश) ********************************************************* मैं सपरिवार रविवार को रेलगाड़ी में बैठ हैदराबाद से वाराणसी जा रहा था।...

42 views

जागकर जगाने की जरूरत

अवधेश कुमार ‘अवध’ मेघालय ******************************************************************** हमें यह कहने में गर्व का अनुभव होता है कि हम भारत वर्ष...

19 views

मार्गदर्शक खुद भटक गए

डॉ.अरविन्द जैन भोपाल(मध्यप्रदेश) ***************************************************** मानव जीवन स्वयं दुखों का संसार है,संसार यानी संस्रण करना यानि भ्रमण,दुःख-सुख एक आभास...

35 views

भारत म़ें अनेकता में एकता

आशा जाकड़ ‘ मंजरी’ इन्दौर(मध्यप्रदेश) *********************************************************** `मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना। हिन्दी हैं हम वतन हैं,हिन्दोस्तां...