Uncategorized

54 views

हुआ सवेरा

कैलाश मंडलोई ‘कदंब’ रायबिड़पुरा(मध्यप्रदेश) ************************************************************ यहाँ-वहाँ रवि रश्मियां, डाले अपना डेरा धीरे-धीरे, हटने लगा अंधकार का पहरा। ठहरा...

45 views

गाय

राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ टीकमगढ़(मध्यप्रदेश)  ********************************************************************* एक बहुउपयोगी पशु है गाय। लेकिन,फिर भी, कितनी है असहायll जो कसाईयों...

40 views

बिन मानवता के जीवन राख

लालचन्द्र यादव आम्बेडकर नगर(उत्तर प्रदेश) *********************************************************************** प्रेम,दया,करुणा सभी,मानव के श्रृंगार। मिल-जुलकर जो रह गये,हो जाये उद्धारll   जीवन...

71 views

सजा

रमेश कुमार सिंह ‘रुद्र’   कैमूर(बिहार) *************************************************** अच्छे दिन की शुरुआत हो चुकी थी,लोगों को ठंडक का एहसास प्रचुर...

37 views

तुम चले गए तो फिर हमें आए याद बहुत

सलिल सरोज नौलागढ़ (बिहार) ******************************************************************** तुम जब चले गए तो फिर हमें आए याद बहुत, जिस गुलशन को...

41 views

क्यों बदहाल एवं उपेक्षित है बचपन ?

ललित गर्ग दिल्ली ************************************************************** संपूर्ण विश्व में ‘सार्वभौमिक बाल दिवस’ २० नवम्बर को मनाया गया। इस दिवस की...

47 views

जिन्दगी भर की पुण्याई

विजयसिंह चौहान इन्दौर(मध्यप्रदेश) ****************************************************** रघुनाथसिंह और मदनसिंह दोनों सगे भाई। रघुनाथसिंह जी बड़े हैं और जिन्दगी भर कर्म...

38 views

छटपटाहट के बिना कविता नहीं हो सकती

इंदौर। राजकुमार कुम्भज जंगल एक भूख है से लेकर राजा ने सिलवाया कोट तक की अपनी कविता यात्रा...

42 views

बचपन

मधु शंखधर ‘स्वतंत्र’  इलाहाबाद(उत्तर प्रदेश) ********************************************************************* तुम संग मैं अल्हड़पन जीती, स्नेह सुधा रस प्रतिपल पीती। हँसी-ठिठोली खेल...

35 views

कहीं वजूद नहीं है तेरा

राम भगत किन्नौर ******************************************************************* कहीं वजूद नहीं है तेरा, मानव तू तो माया जाल में है। सुबह का...