Tag: bodhan

5 views

बदलते रिश्ते

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** रहो महफूज दुनिया में सजाना प्यार मेरे तुम। जहां में आज...

9 views

ना भुलाना मुझे

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** रूठ जाऊँ कभी तो मनाना मुझे। कर ये वादा कभी ना...

18 views

अकेले रह गए…

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** (तर्ज:दिल के अरमां आँसूओं में बह गए...रचना शिल्प:२१२२   २१२२   २१२)...

16 views

दर्पण

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** आज सारा जमाना बदल-सा गया। जीवन आइने में मचल सा गयाll...

34 views

मेरी अभिलाषा

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** ऐ भारत माता चरणों में, मैं दिल के फूल बिछाऊँ। मैं...

21 views

पिता

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** पिता देव सम है जहां,करना इसका मान। नहीं वृद्ध आश्रम रहे,घर...

26 views

सदा मुस्कुराते चलो 

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** जिंदगी में सदा मुस्कुराते चलो। जख्म खाकर सभी को हँसाते चलो॥...

81 views

तुम्हारे नाम लिख दूँ मैं.. 

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** कहो तो जिन्दगी अपनी,तुम्हारे नाम लिख दूँ मैं। जमाने की सभी...

48 views

बारिश

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** देखो सावन झूम के,आई है इस बार। रिमझिम बरसे बारिशें,सुन्दर पड़े...

148 views

इश्क का बाजार

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** रूठना,मनाना ही,अब काम हो गया। इश्क का बाजार,दिल के नाम हो...