Tag: gupta

7 views

मन का रावण पहले मरे

संजय गुप्ता  ‘देवेश’  उदयपुर(राजस्थान) ********************************************************************* विजयादशमी विशेष....................... रावण हर साल जलाते हैं आओ इस पर विचार करें, परम्परा...

12 views

तेरी सजा ही माफी है

संजय गुप्ता  ‘देवेश’  उदयपुर(राजस्थान) ********************************************************************* तुझे रोज छुप-छुप कर देखूं,जीने को यही काफी है, जो चाहे सजा दे...

5 views

लोकतंत्र का रण

राजेश गुप्ता ‘बादल’ मुरैना (मध्यप्रदेश) *********************************************************************** रणभेरी है बज चुकी घनेरी, आगे देखोगे ज़ुबान कहां तक गिरेगी और...

9 views

हौंसला

निशा गुप्ता  देहरादून (उत्तराखंड) *************************************************************          अपने हौंसले की उड़ान,  अनवरत जारी रखो। गगन की...

55 views

अब तो बसर करनी है तन्हा

संजय गुप्ता  ‘देवेश’  उदयपुर(राजस्थान) ********************************************************************* बाँटा ना जब किसी ने गम मेरा आइना रखा सामने दुखड़ा सुना दिया,...

8 views

बन्द आँख से स्वप्न न देख

पारस गुप्ता  ‘शायर दिल से’  चन्दौसी(उत्तर प्रदेश) ********************************************************* जो सोचा कभी,वही इत्तेफ़ाक हुआ..., कैर में जला खूब,जल के...

49 views

मंजिलों के वजूद ही सवालों में…

संजय गुप्ता  ‘देवेश’  उदयपुर(राजस्थान) ********************************************************************* कर लेता है इन्सान,गुनाह छुप-छुपकर  देख लेता है घोर अंधेरों,स्याह कालों में, हैरान...

44 views

राजभाषा गौरव तेरा तुझको अर्पण…

डॉ. एम.एल. गुप्ता 'आदित्य' **************************************************************** राष्ट्रीय पुरस्कार मिलना किसी व्यक्ति के जीवन का सर्वाधिक आनन्ददायी और अविस्मरणीय क्षण...

44 views

चांद और बादल की लुका-छिपी

संजय गुप्ता  ‘देवेश’  उदयपुर(राजस्थान) ********************************************************************* चांद को बादल में छिपा देखकर  कोई अब तक नहीं समझ पाया,  लूट...

16 views

जिंदगी का इतना फसाना है…

पारस गुप्ता  ‘शायर दिल से’  चन्दौसी(उत्तर प्रदेश) ********************************************************* शायरों की जिंदगी का इतना फसाना है..., दु:खते जख्मों पर...