Tag: nishad

12 views

माता मेरी ये धरा…

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** धरती अपनी धारिणी,माता रूप समान। करो वन्दना प्रेम से,इनसे हैं इंसान॥...

26 views

मैं क्यूँ लिखता हूँ ?

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** मैं क्यूँ लिखता हूँ ? तेरी यादों की बरसात, तड़पाते दिन...

11 views

मैं मजदूर हूँ…

डोमन निषाद बेमेतरा(छत्तीसगढ़) ************************************************************* मजबूर हूँ, श्रम पर निर्भर हूँ। क्या करूँ,बेसहारा हूँ, मगर गंदी नाली का कीड़ा...

22 views

फुरसत

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** फुरसत से आ बैठ ले,करते हैं कुछ बात। प्रिये आज मौसम...

29 views

चल पड़े जो कदम..

बोधन राम निषाद राज"विनायक"’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** चल पड़े जो कदम प्यार की राह में। अब नहीं आजमाना...

26 views

प्रेम

डोमन निषाद बेमेतरा(छत्तीसगढ़) ************************************************************* दिल ने कहा है सनम से, मोहब्बत हो गई है तुमसेl न पता मुझे...

26 views

राजनीति

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** राजनीति के खेल में,जनता पीसी जाय। क्या होगा इस देश का,कोई...

20 views

प्यार कर लूँ मैं जरा…

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** चाँद आना पास तुझको प्यार कर लूँ मैं ज़रा। इश्क का...

33 views

सपने सुहाने

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** आज सपने सुहाने लगे हैं हमें। जिंदगी अब तराने लगे हैं...

36 views

वक्त

डोमन निषाद बेमेतरा(छत्तीसगढ़) ************************************************************* वक्त दुबारा नहीं आयेगा, बदलना पड़ेगा स्वयं को। न रूठो दूसरों के लिए, खुद...