Tag: prasad

12 views

दुपहरी

सत्येन्द्र प्रसाद साह’सत्येन्द्र बिहारी’ चंदौली(उत्तर प्रदेश) ***************************************************************************** अनल अम्बर झरता ज्येष्ठ की दुपहरी, उष्ण वातावरण तप्त तवा-सी धरणी...

22 views

जय-जयकारा तू लगाए जा

रंजन कुमार प्रसाद रोहतास(बिहार) *************************************************************** आई दिल में खुशहाली ऐसे पावन पर्व की, अनुशासन का पाठ पढ़ाता इस...

32 views

जोकर

सत्येन्द्र प्रसाद साह’सत्येन्द्र बिहारी’ चंदौली(उत्तर प्रदेश) ***************************************************************************** मैं बात पते की कहता, जीवन सर्कस है होता। रास रचाता...

24 views

अपना घर

शम्भूप्रसाद भट्ट `स्नेहिल’ पौड़ी(उत्तराखंड) ************************************************************** ये मेरा घर ये तेरा घर, घरौंदा है यहाँ सब का। घरों में...

30 views

यह भूमि है पुण्या…

शम्भूप्रसाद भट्ट `स्नेहिल’ पौड़ी(उत्तराखंड) ************************************************************** उत्तराखंड की भूमि है पुण्या, जय हो उत्तराखंड भूमि है धन्या। उत्तराखंड में...

41 views

चुनाव का दौर

प्रखर दीक्षित फर्रूखाबाद (उत्तर प्रदेश) ********************************************************* गली-गली राजपथ,गाँव हाट नगर-नगर। खाक छानते फिरें,सफेदपोश डगर-डगर॥ झोलियों में वादे लिए,बाँट...

41 views

माँ गीता जैसी पावन…

सत्येन्द्र प्रसाद साह’सत्येन्द्र बिहारी’ चंदौली(उत्तर प्रदेश) ***************************************************************************** सुना है रहबरों के किस्से बड़े सुहाने होते हैं। माँ तो...

38 views

रंग

गंगाप्रसाद पांडे ‘भावुक’ भंगवा(उत्तरप्रदेश) **************************************************************** सूर्य देता है प्रकाश, चलता है जीवन दिखती है दुनिया, इसी रौशनी में...

31 views

चुनाव प्रचार

गंगाप्रसाद पांडे ‘भावुक’ भंगवा(उत्तरप्रदेश) **************************************************************** लो चुनाव प्रचार चरम पर, हर प्रत्याशी भ्रमण पर प्रचारकों की बल्ले-बल्ले, पेट...

39 views

दहेज का अभिशाप

शम्भूप्रसाद भट्ट `स्नेहिल’ पौड़ी(उत्तराखंड) ************************************************************** दहेज, जो पहले माना जाता था एक उपहार, लेकिन... उसी के कारण आज...