Tag: ram

5 views

बदलते रिश्ते

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** रहो महफूज दुनिया में सजाना प्यार मेरे तुम। जहां में आज...

9 views

ना भुलाना मुझे

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** रूठ जाऊँ कभी तो मनाना मुझे। कर ये वादा कभी ना...

13 views

कभी-कभी

राम भगत किन्नौर ******************************************************************* कभी-कभी हम, बहुत आगे बढ़ते हैं। और हम पीछे बहुत कुछ छोड़ जाते हैं।...

18 views

अकेले रह गए…

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** (तर्ज:दिल के अरमां आँसूओं में बह गए...रचना शिल्प:२१२२   २१२२   २१२)...

24 views

फूलों की खुशबू

राम भगत किन्नौर ******************************************************************* फूलों की खुशबू से कुछ सीखो, कितनी भी बारिश हो या तपती धूप फिर...

16 views

दर्पण

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** आज सारा जमाना बदल-सा गया। जीवन आइने में मचल सा गयाll...

34 views

मेरी अभिलाषा

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** ऐ भारत माता चरणों में, मैं दिल के फूल बिछाऊँ। मैं...

21 views

पिता

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** पिता देव सम है जहां,करना इसका मान। नहीं वृद्ध आश्रम रहे,घर...

93 views

पर्यावरण

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** पर्यावरण सुधार के,स्वच्छ रखो आवास। होगी शुद्ध हवा तभी,जीवन बीते खासll...

26 views

सदा मुस्कुराते चलो 

बोधन राम निषाद ‘राज’  कबीरधाम (छत्तीसगढ़) ******************************************************************** जिंदगी में सदा मुस्कुराते चलो। जख्म खाकर सभी को हँसाते चलो॥...