Tag: sandhya

11 views

मेरा दिल खो रहा है

संध्या चतुर्वेदी ‘काव्य संध्या’ अहमदाबाद(गुजरात)  ****************************************************************** देखो बारिश हो रही,मेरा दिल खो रहा है, कोई कुछ तो मुझे...

18 views

बहना का प्यार

संध्या चतुर्वेदी ‘काव्य संध्या’ अहमदाबाद(गुजरात)  ****************************************************************** बहन ही है, जो रिश्तों को निभाती है हो मुसीबत कितनी फिर...

20 views

बहना का प्यार

संध्या चतुर्वेदी ‘काव्य संध्या’ अहमदाबाद(गुजरात)  ****************************************************************** बहन ही है, जो रिश्तों को निभाती है हो मुसीबत कितनी फिर...

25 views

वो दीपावली कब आयेगी

संध्या चतुर्वेदी ‘काव्य संध्या’ अहमदाबाद(गुजरात)  ****************************************************************** दीपावली पर्व विशेष, दीप पर्व आपको आलोकित करे….. दीपावली का त्यौहार भारतवर्ष...

28 views

करवा चौथ

संध्या चतुर्वेदी ‘काव्य संध्या’ अहमदाबाद(गुजरात)  ****************************************************************** आज धरा पर चाँद का मान मर्दन होगा, जब धरती पर सुहागिनों...

25 views

संध्या

सपना सक्सेना  ग्रेटर नोएडा(उत्तर प्रदेश) ************************************************ आसमान में हल्के-हल्के गहरे होते सांझ धुंधलके, धूसर केशों को बिखराती सुरमई ...

23 views

कलयुग के दानव

संध्या चतुर्वेदी ‘काव्य संध्या’ अहमदाबाद(गुजरात)  ****************************************************************** विजयादशमी विशेष........... वो राम कहाँ से लाऊँ अब, जो रावण का संहार...

36 views

माँ अंबे नव अवतार

संध्या चतुर्वेदी ‘काव्य संध्या’ अहमदाबाद(गुजरात)  ****************************************************************** जय अंबे,अष्ट भवानी अंबे माँ, सिंह भवानी जय माँ,जगदंबे अंबे माँ। जय...

31 views

व्रत मनाएं स्नेह से

संध्या चतुर्वेदी ‘काव्य संध्या’ अहमदाबाद(गुजरात)  ****************************************************************** पितृ अमावस्या आयी। करते सब पितृ विदायी॥ आयेगी नवरात्रि अब।  घर-घर में...

52 views

श्राद्ध और ब्राह्मण भोज

संध्या चतुर्वेदी ‘काव्य संध्या’ अहमदाबाद(गुजरात)  ******************************************************************  आजकल एक नया फैशन और नई सोच समाज में तेजी से बढ़...