कर दो जवानी देश के नाम…

सुनील चौरसिया ‘सावन’ काशी(उत्तरप्रदेश) ********************************************************** साँसों से लिख दो कहानी देश के नाम,कर दो कुर्बान यह जवानी देश के नाम। ऐ पाक मेघ! यूँ थम कर जरा,रिमझिम बरसो प्रेम-पानी देश…

0 Comments

औरों के लिए जीना

डॉ. अलका पाण्डेय मुम्बई(महाराष्ट्र)****************************************** न अरमानों को दबाईए,न ख़्वाबों को सजाईएनन्हीं-सी है ये ज़िंदगानी,न इच्छाओं को दबाईएजो मिले,जितना मिले प्रेम से अपनाईए,हर हाल में ख़ुश रहिए,औरों को समझाईए। जीवन में…

0 Comments

बाक़ी अभी‌ हैं खाइयाँ

अब्दुल हमीद इदरीसी ‘हमीद कानपुरी’कानपुर(उत्तर प्रदेश)***************************************************************** दरमियां बाक़ी अभी‌ हैं खाइयाँ।कह रही हैं चीख़ कर तन्हाइयाँ। मुल्क की खातिर बहा कितना लहू,सब भुला डाली गयीं क़ुर्बानियाँ। उनको अपने हुस्न पर…

0 Comments

लगन,मेहनत और अभिनय से किरदार बनता सचिन

इदरीस खत्रीइंदौर(मध्यप्रदेश)******************************************************* माना कि मेरी ज़ात सिकन्दर तो नही हैं, हारते रहना भी मुकद्दर तो नहीं है एक रोज पार कर जाऊँगा तुझे भी, तू मेरी ज़िंदगी का पहला समुन्दर…

0 Comments

बारिश का मौसम

तारा प्रजापत ‘प्रीत’रातानाड़ा(राजस्थान) ************************************************* बारिश का,मौसम आया हैबूंदों ने गीतसुनाया है।रिमझिम का,नाद सुनाती हैसाजन की,याद दिलाती हैlज़ालिम ने,बड़ा सताया हैबारिश का,मौसम आया है।धुल गए हैं चेहरे,फूलों केदिन आ गए हैं,झूलों के,ये…

0 Comments

अजब इश्क

डॉ.पूजा हेमकुमार अलापुरिया ‘हेमाक्ष’मुंबई(महाराष्ट्र) ********************************************************* इश्क न हमने और न तुमने ही फरमाया,इश्क की रवायतों और कवायतों का इल्मन हमें है और न तुम्हें है,दीदारे इश्क का नूर होता होगा…

0 Comments

घर किसका है…

जसवंतलाल खटीकराजसमन्द(राजस्थान)************************************************************* सब कहते हैं-खाली हाथ आए थे,खाली हाथ जाएंगेफिर क्यों रात-दिन खून पसी…ना एक करके,जो सपनों का घर बनाते हो…वो घर किसका है…! ना तुम्हारा उस पर अधिकार,ना ही…

0 Comments

चीनी-हिन्दी भाई नहीं रहे

जीवनदान चारण ‘अबोध’  पोकरण(राजस्थान) ****************************************************************** पृथ्वी के उत्तरी गोलार्द्ध में स्थित विश्व के २ महान देश,जिनका नाम लेते ही विश्व पटल पर स्थित जनमानस का ख्याल आता हैlजनसँख्या से लबरेज विश्व के चोटी…

0 Comments

बाबा बुला रहे हैं

महेन्द्र देवांगन ‘माटी’पंडरिया (कवर्धा )छत्तीसगढ़ ************************************************** आया सावन महिना भक्तों,जपो प्रेम से शिव का नाम।बाबा बुला रहे हैं देखो,काँवरिया को अपने धाम॥ रिमझिम-रिमझिम पानी बरसे,भक्त लगाये जय-जयकार।भक्तों की टोली हैं निकली,सुन…

0 Comments

ऑनलाइन राष्ट्रीय लघुकथा-काव्य गोष्ठी में राष्ट्रप्रेम व श्रृंगार से श्रोता हुए मंत्रमुग्ध

दिल्ली। राष्ट्रीय संस्था हिंदी साहित्य भारती के तत्वावधान में ऑनलाइन अखिल भारतीय लघुकथा-काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। इसमें पूरे देश से जुड़े प्रख्यात साहित्यकारों,मनीषियों द्वारा राष्ट्रीय भावनाओं से ओत-प्रोत,सम-सामयिक,भक्ति…

0 Comments