रचना पर कुल आगंतुक :147

You are currently viewing चला था अकेले यूँ ही पथ पर

चला था अकेले यूँ ही पथ पर

डॉ. श्राबनी चक्रवर्ती
बिलासपुर (छतीसगढ़)
*************************************************

जीवन की इस कठिन डगर में,
चला था मैं अकेले यूँ ही पथ पर
लंबे हों रास्ते या टेढे़-मेढे़ तंग गलियों में,
परे सोच चलते रहना है हर परिवेश में।

अज्ञात, रहस्यमयी इन राहों पर,
जीवन के हर दुर्गम मोड़ पर
पथरीले और काँटों से भरे पथ,
उतार-चढ़ाव के जाल बिछाए।

अवरुद्ध करेंगे सफर हमारे,
चिंता क्यों करता है राही
आगे बढ़ना ध्येय हमारा,
अडिग इरादे रहे प्रज्ञा में।

नए क्षितिज को हमें थामना,
सूरज की ऊर्जावान किरणों को छूना
नित्य नवीन दिशा और पड़ाव तय करना,
इस पथ पर निरंतर आगे है बढ़ना।

निराशा की लहरों से है जूझना,
आशा की नई किरण से सीखना
मझधार में तुम उम्मीद न छोड़ना,
थाम लेना संकुल ओजस्वी भावना।

जीवन यात्रा है एक रणभूमि,
हर पल एक नया संघर्ष है
हो अगर पराक्रमी और निडर इरादे,
तो हर चुनौती का सामना है संभव।

नई राह और नई डगर पर,
अनुभव कुछ खट्टे-मीठे लेकर।
चला था मैं अकेले यूँ ही पथ पर,
रोमांचक एक जीवन यात्रा पर॥

परिचय- शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय में प्राध्यापक (अंग्रेजी) के रूप में कार्यरत डॉ. श्राबनी चक्रवर्ती वर्तमान में छतीसगढ़ राज्य के बिलासपुर में निवासरत हैं। आपने प्रारंभिक शिक्षा बिलासपुर एवं माध्यमिक शिक्षा भोपाल से प्राप्त की है। भोपाल से ही स्नातक और रायपुर से स्नातकोत्तर करके गुरु घासीदास विश्वविद्यालय (बिलासपुर) से पीएच-डी. की उपाधि पाई है। अंग्रेजी साहित्य में लिखने वाले भारतीय लेखकों पर डाॅ. चक्रवर्ती ने विशेष रूप से शोध पत्र लिखे व अध्ययन किया है। २०१५ से अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय (बिलासपुर) में अनुसंधान पर्यवेक्षक के रूप में कार्यरत हैं। ४ शोधकर्ता इनके मार्गदर्शन में कार्य कर रहे हैं। करीब ३४ वर्ष से शिक्षा कार्य से जुडी डॉ. चक्रवर्ती के शोध-पत्र (अनेक विषय) एवं लेख अंतर्राष्ट्रीय-राष्ट्रीय पत्रिकाओं और पुस्तकों में प्रकाशित हुए हैं। आपकी रुचि का क्षेत्र-हिंदी, अंग्रेजी और बांग्ला में कविता लेखन, पाठ, लघु कहानी लेखन, मूल उद्धरण लिखना, कहानी सुनाना है। विविध कलाओं में पारंगत डॉ. चक्रवर्ती शैक्षणिक गतिविधियों के लिए कई संस्थाओं में सक्रिय सदस्य हैं तो सामाजिक गतिविधियों के लिए रोटरी इंटरनेशनल आदि में सक्रिय सदस्य हैं।

Leave a Reply