‘माँ और हम’:प्रथम विजेता ललित गर्ग व दिनेश चंद प्रसाद ‘दीनेश’

इंदौर (मप्र)। हिंदीभाषा डॉट कॉम परिवार द्वारा आयोजित सतत स्पर्धाओं में रचना शिल्पियों का उत्साह बढ़ रहा है। इसी श्रंखला में 'माँ और हम' विषय पर ८१ वीं स्पर्धा आयोजित…

0 Comments

बिकते शब्द

संजय वर्मा ‘दृष्टि’ मनावर(मध्यप्रदेश)**************************************** शब्द,मीठे-कड़वेबनाओ तो बन जातेशस्त्र,तीखे बाण-कानों को अप्रियआदेश। हौंसला, ढाढंस, ऊर्जा बढ़ातेमौत को टोक कररोक देते,उपदेशों से कर देते अमर। शब्दों का पालन,भाग-दौड़ भरी दुनिया से परेसिग्नल मुँह…

0 Comments

यशोधरा का त्याग

प्रो.डॉ. शरद नारायण खरेमंडला(मध्यप्रदेश)******************************************* यशोधरा का त्यागकर, गये तपोवन बुद्ध।यहाँ ज़िन्दगीभर हुआ, एकाकीपन से युद्ध॥ यशोधरा का सोच था, उसका क्या था दोष।जो पति ने ठुकरा दिया, नेह-प्यार का कोष॥…

0 Comments

मन्नतों के धागे

डॉ. गायत्री शर्मा’प्रीत’इन्दौर (मध्यप्रदेश )******************************************* मन्नतों के अनगिनत धागे मैंने बाँध दिये।रात के बाद प्रात सूरज ने फिर सवाल किये॥ बादलों पर चित्र उकेरे और दिया संदेशा,आयेगा जवाब कोई मन…

0 Comments

६ वर्ग में सम्मान हेतु रचनाकारों से प्रविष्टि आमंत्रित

भोपाल (मप्र)। भव्या पब्लिकेशन (भोपाल) द्वारा सम्मान समारोह २०२४ के लिए अखिल भारतीय स्तर पर प्रविष्टियाँ आमंत्रित की गई हैं। इसके लिए ६ वर्ग में १५ जून २०२४ तक आवेदन…

0 Comments

कवियों को पाठकों के हृदय में स्थान बनाना चाहिए

पटना (बिहार)। कविता का सृजन करना और कविता कों मंच के माध्यम से पाठकों के हृदय में अपना स्थान बनाना, दोनों उद्देश्य होना चाहिए। आज समकालीन कवियों को पत्र-पत्रिकाओं के…

0 Comments

लघुकथा शोध प्रेरणा सम्मान हेतु चाही प्रविष्टियाँ

भोपाल (मप्र)। लघुकथा विधा में नवीन शोध, प्रयोग एवं विमर्श की दिशा में प्रयासों को गति देने के उद्देश्य से डॉ. उपासना सक्सेना अखिल भारतीय लघुकथा शोध प्रेरणा सम्मान-२०२४ हेतु…

0 Comments

मौखिक व्यंग्य एक साहित्यिक उपकरण

'साहित्य में व्यंग्य की भूमिका' पर विशेष प्रस्तुति... नीदरलैंड। 'अंतरराष्ट्रीय हिन्दी संगठन नीदरलैंड' के मासिक साहित्यिक कार्यक्रम के अंतर्गत प्रसारित कार्यक्रम 'साहित्य में व्यंग्य की भूमिका' व्यंग्य पुरोधा शरद जोशी…

0 Comments

पानी है अनमोल रत्न

डॉ.राम कुमार झा ‘निकुंज’बेंगलुरु (कर्नाटक) ************************************************* आओ मिलकर हम सब अलख जलाएँ,जीवन अमृत पानी चलो बचाएँबिन पानी असंभव है प्राणी जीना,पेड़ों को मिलकर हम साथ लगाएँ। पानी है प्रकृति का…

0 Comments

सम्मान और काव्य प्रस्तुतियों से मनाया वार्षिकोत्सव

जबलपुर (मप्र)। हस्ताक्षर के वार्षिकोत्सव में सर्वप्रथम संस्थापक गणेश श्रीवास्तव ने शब्द सुमनों से अभिनंदन किया। मुख्य अतिथि डॉ. अशोक कुमार तिवारी (संस्थापक अध्यक्ष-संगीत श्रोता समाज), अध्यक्षता महामहोपाध्याय आचार्य डॉ.…

0 Comments