Visitors Views 31

ललित गर्ग एवं डॉ. श्राबनी चक्रवर्ती बने विजेता

‘मित्रता और जीवन…’ स्पर्धा….

इंदौर(मप्र)।

हिंदीके प्रचार अभियान के निमित्त हिंदीभाषा डॉट कॉम परिवार द्वारा अगस्त माह में ४८ वीं स्पर्धा आयोजित की गई। ‘मित्रता और जीवन…’ विषय पर इस प्रतियोगिता में ललित गर्ग एवं डॉ. श्राबनी चक्रवर्ती प्रथम स्थान पर विजेता बने हैं।
यह जानकारी मंच-परिवार की सह-सम्पादक श्रीमती अर्चना जैन और संस्थापक-सम्पादक अजय जैन ‘विकल्प’ ने देते हुए बताया कि, प्राप्त प्रविष्टियों में से श्रेष्ठता अनुरुप निर्णायक मंडल ने गद्य में ललित गर्ग (दिल्ली) की रचना ‘जीना सिखाती है दोस्ती’ को प्रथम स्थान दिया है। इसी वर्ग में द्वितीय स्थान ‘ईश्वरीय देन’ पर एच.एस. चाहिल (छग) ने प्राप्त किया है।

श्रीमती जैन ने बताया कि, १ राष्ट्रीय कीर्तिमान, १.५० करोड़ दर्शकों-पाठकों का अपार स्नेह एवं ७ सम्मान पाने वाले इस मंच द्वारा आयोजित उक्त स्पर्धा में पद्य वर्ग में रचना ‘इनसे दोस्ती आज भी अच्छी’ पर डॉ. श्राबनी चक्रवर्ती (छग) ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है, जबकि डॉ. राम कुमार झा ‘निकुंज’ (दिल्ली) की रचना ‘दोस्त नाम विश्वास का’ दूसरे क्रम पर आई है। मंच की संयोजक प्रो.डॉ. सोनाली सिंह, मार्गदर्शक डॉ.एम.एल. गुप्ता ‘आदित्य’, सरंक्षक डॉ. अशोक जी (बिहार) एवं प्रचार प्रमुख श्रीमती ममता तिवारी ‘ममता'(छग) ने सभी विजेताओं व सहभागियों को हार्दिक बधाई दी है।