Visitors Views 63

चुनावी समर

बोधन राम निषाद ‘राज’ 
कबीरधाम (छत्तीसगढ़)
********************************************************************
सारे भारत वर्ष में,धूम मची है आज।
चलो करें मतदान अब,करते हैं शुभ काजll

घर-घर माँगे वोट को,करके वादा आज।
समय बीत फिर जीत के,करते हैं वो राजll

लोभ मोह के जाल में,कभी न फँसना यार।
नेता गिरगिट जान लो,बदले रंग हजारll

दल-बदलू को आज तुम,करो नहीं स्वीकार।
जो जनता को दे दगा,छोड़ो इनको यारll

देशभक्ति की राह पर,चलते हैं जो साथ।
ऐसे मानव को चुनो,रख हाथों में हाथll