By राजभाषा से राष्टभाषा

Showing 10 of 4,617 Results

सकल जगत की शान

आशा आजादकोरबा (छत्तीसगढ़) ********************************************************************** प्रेमचंद जी को नमन,सकल जगत की शान। अनुपम सभी कहानियाँ,देते सुंदर ज्ञानll उपन्यास में सार है,सुंदर नव संदेश। अंतर मन भी तृप्त हो,पढ़कर मिटता क्लेशll अनुपम […]

राजबाला शर्मा ‘दीप’ एवं अंशु प्रजापति प्रथम तो निर्मल शर्मा ‘निर्मल’ व तारा ‘प्रीत’ द्वितीय

‘सामाजिक संबंध और दूरी’ स्पर्धा के परिणाम जारी इंदौर। हिन्दीभाषा डॉट कॉम परिवार द्वारा ‘सामाजिक संबंध और दूरी’ स्पर्धा के परिणाम १७ मई को घोषित कर दिए गए हैं। इसमें […]

‘महाराणा प्रताप और शौर्य’ पर स्पर्धा,२१ मई तक जमा होगी प्रविष्टी

इंदौर। लोकप्रिय मंच हिंदीभाषा डॉट कॉम (पोर्टल) से जुड़े सभी रचनाशिल्पियों (पंजीकृत सदस्य) और नवांकुरों के लिए इस बार भी मासिक स्पर्धा हो रही है। इस क्रम में १५वीं मासिक […]

असली-नकली चेहरा!

एन.एल.एम. त्रिपाठी ‘पीताम्बर’  गोरखपुर(उत्तर प्रदेश) *********************************************************** किसी की आँखों शबनम जैसे बेवफा के आँसू, किसी के जख्म जहरीली मुस्कान। किसी का मुस्कुराता गम में भी चेहरा, औरों के गम पे […]

देश की समृद्धि में मील का पत्थर ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’

संदीप सृजन उज्जैन (मध्यप्रदेश)  ****************************************************** भारत में संस्कारों का सूर्य इसीलिए अस्त नहीं होता,क्योंकि हम अपनी परम्परा को बार-बार दोहराते हैं और अनुसरण में भी लाते हैं। हम सिर्फ अपने […]

मानवता पर क्रूर वार

अख्तर अली शाह `अनन्त` नीमच (मध्यप्रदेश) **************************************************************** जूझ रही जब दुनिया सारी, ‘कोरोना’ की बीमारी से। आर्थिक प्रतिबंध ऐसे में, मानवता पर क्रूर वार हैं॥ एक सूत्र में दुनिया सारी, […]

विश्व साहित्य नारी कोष ने ‘मातृ दिवस’ पर कराया अनूठा काव्य सम्मेलन

सरगुजा(छत्तीसगढ़)। कलम की सुगंध विश्व साहित्य नारी कोष के तत्वावधान में १० मई को ऑनलाइन कवियित्री सम्मेलन शाम को किया गया । यह अपने आप में पहला ऐसा अनूठा कार्यक्रम […]

माँ

डीजेंद्र कुर्रे ‘कोहिनूर’  बलौदा बाजार(छत्तीसगढ़) ******************************************************************** लुटाती प्यार का सागर,रखे मुझमें ही अपनी जां, कभी कुछ बात जब कहती,सहज रहती है मेरी हाँ। सदा से मैं ही हूँ जिसका,कलेजे का […]

जिस पथ पर मजदूर अनेक

संजय गुप्ता  ‘देवेश’  उदयपुर(राजस्थान) ******************************************************************** सड़क हादसों में काल कवलित मजदूरों को श्रृद्धांजलि… ये भूख है,खौफ है,मजबूरी है या कोई इनकी हताशा ये ‘पुष्प के आँसू’ होते,या होती ‘पुष्प की […]

तात्कालिक ‘तालाबंदी’ को स्थायी नशाबंदी में क्यों नहीं बदला जाए ?

डॉ.वेदप्रताप वैदिक गुड़गांव (दिल्ली)  ********************************************************************** ‘तालाबंदी’ को ढीला करते ही सरकार ने २ उल्लेखनीय काम किए। एक तो प्रवासी मजदूरों की घर वापसी और दूसरा शराब की दुकानों को खोलना। […]