कुल पृष्ठ दर्शन : 184

You are currently viewing आया मौसम प्यार का

आया मौसम प्यार का

बोधन राम निषाद ‘राज’ 
कबीरधाम (छत्तीसगढ़)
*******************************

आया मौसम प्यार का,कर ले बातें चार।
लगे झूमने फूल भी,छाये मस्त बहार॥
छाये मस्त बहार,मधुप भी गुन-गुन गाए।
मिलने को बेचैन,तितलियाँ भी मुस्काए॥
कहे ‘विनायक राज’,देख मेरा मन भाया।
सुखद सुहाना आज,देख लो मौसम आया

Leave a Reply