Visitors Views 767

कर संघर्ष

अजय जैन ‘विकल्प’
इंदौर(मध्यप्रदेश)
******************************************

कर संघर्ष,
भेद लक्ष्य संसार-
मिलेगा अर्श।

डरना भूल,
नाव उठा हौंसला-
बना उसूल।

रखना ध्यान,
सफल जब श्रम-
मिलेगा मान।

टाल अभाव,
उम्मीद राह नई-
निभाना भाव।

बढ़ना आगे,
बढ़ चिमनी विश्व-
मुश्किल भागे।

जीना मुश्किल,
लक्ष्य बड़ा विकट-
कर हासिल।

ख्वाब मंजिल,
फिक्र मत जगत-
बन काबिल।

नसीब मेरा,
संकट मत डर-
भरोसा तेरा।

उड़ गगन,
नाप पंख हौंसला-
रह मगन।

कर संकल्प,
नहीं थमे कदम-
जीत ‘विकल्प’॥