कुल पृष्ठ दर्शन : 134

You are currently viewing कृष्णायण अखण्ड काव्यार्चन कार्यक्रम को मिला विश्व कीर्तिमान

कृष्णायण अखण्ड काव्यार्चन कार्यक्रम को मिला विश्व कीर्तिमान

देवधर (झारखंड)।

२९-३० जुलाई को हुआ २५ घण्टे का आभासी कृष्णायण अखण्ड काव्यार्चन कार्यक्रम ‘लंदन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड’ में शामिल कर लिया गया है। रिकॉर्ड की टीम ने आयोजन के मुख्य संयोजक और साहित्योदय के संस्थापक अध्यक्ष पंकज ‘प्रियम’ को विश्व कीर्तिमान का सम्मान दिया है।
पंकज ‘प्रियम’ ने यह सम्मान सभी सदस्यों को समर्पित करते हुए आभार प्रकट किया हैं। राधा और कृष्ण के जीवन पर आधारित इस काव्यार्चन में दुनिया के ३०० से अधिक लब्धप्रतिष्ठ कवि, कवियित्री और कलाकारों ने अपनी सर्वोत्तम प्रस्तुति दी थी। उद्घाटन और समापन सहित कुल २६ सत्रों में हर सत्र में १ वरिष्ठ साहित्यकार बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे। इसमें पं. अनित्य नारायण मिश्र, सरला शर्मा, डॉ. शोभा त्रिपाठी, प्रो. रामकुमार पाठक, संजीव शर्मा ‘सलिल’ एवं डॉ. विनय कुमार श्रीवास्तव इत्यादि हैं।
अध्यक्ष ने बताया कि, इस महाकाव्य का लोकार्पण वृंदावन में प्रस्तावित श्री बाँके बिहारी अंतरराष्ट्रीय साहित्य महोत्सव में होगा।