कुल पृष्ठ दर्शन : 307

You are currently viewing नए साल की बधाई

नए साल की बधाई

संजय गुप्ता  ‘देवेश’ 
उदयपुर(राजस्थान)

***************************************

नव वर्ष विशेष….

जी रहे थे हम सभी,कैसे इस हाल में,
साल गुजरा है बुरा,कोरोना काल में
हो नहीं फिर से,दुआ ऐसी हम ये करें,
दें बधाई एक-दूजे को नए साल में।

कल ठहर से जो गए,आगे बढ़ते कदम,
मिल गए हैं पथ नए,क्या बचा सवाल है
ढूंढ लेता आदमी,सब कष्टों की दवा,
बस रहें हम अब सदा ही सुरक्षा ढाल में।

शांति सुख हो सभी के जीवन में सदा,
एक नई उर्जा भरी हो हर एक लाल में
लोग जो खो चुके हैं,अपना सब-सभी,
हम सहारा दें,मिला ताल अपनी ताल में।

जो बीता है भूल जाएँ सपना समझ कर,
प्रभु सहारा साथ है बस अपने ख्याल में
नाचिए अब झूमिए,हो बातें जश्न की,
फिर खुशी हो फिर मचे जादुई धमाल है।

हो नया उत्साह नव अवसर नव हो समय,
हो नए संकल्प नई संभावना हर चाल में।
दौर गुजरा है बड़ी कठिनाईयों भरा,
अब नई ‘देवेश’ यात्रा,इस नव साल में॥

परिचय–संजय गुप्ता साहित्यिक दुनिया में उपनाम ‘देवेश’ से जाने जाते हैं। जन्म तारीख ३० जनवरी १९६३ और जन्म स्थान-उदयपुर(राजस्थान)है। वर्तमान में उदयपुर में ही स्थाई निवास है। अभियांत्रिकी में स्नातक श्री गुप्ता का कार्यक्षेत्र ताँबा संस्थान रहा (सेवानिवृत्त)है। सामाजिक गतिविधि के अंतर्गत आप समाज के कार्यों में हिस्सा लेने के साथ ही गैर शासकीय संगठन से भी जुड़े हैं। लेखन विधा-कविता,मुक्तक एवं कहानी है। देवेश की रचनाओं का प्रकाशन संस्थान की पत्रिका में हुआ है। आपकी लेखनी का उद्देश्य-जिंदगी के ५५ सालों के अनुभवों को लेखन के माध्यम से हिंदी भाषा में बौद्धिक लोगों हेतु प्रस्तुत करना है। आपके लिए प्रेरणा पुंज-तुलसीदास,कालिदास,प्रेमचंद और गुलजार हैं। समसामयिक विषयों पर कविता से विश्लेषण में आपकी विशेषज्ञता है। ऐसे ही भाषा ज्ञानहिंदी तथा आंगल का है। इनकी रुचि-पठन एवं लेखन में है।

Leave a Reply