Visitors Views 20

प्रमाण-पत्र हुआ भारतीय भाषाओं में

मुम्बई (महाराष्ट्र)।

वैश्विक हिन्दी सम्मेलन के प्रयासों का सकारात्मक परिणाम मिला है। तिरंगा झंडा प्रमाण-पत्र हिंदी एवं अन्य भारतीय भाषाओं में जारी होने लगा है।
सम्मेलन के निदेशक डॉ. एम.एल. गुप्ता ने बताया कि, तिरंगा झंडा प्रमाण-पत्र केवल अंग्रेजी में जारी हो रहा था। इस संबंध में संस्कृति मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों को भेजे गए ई-मेल, फोन पर की गई चर्चा, ट्विटर पर संस्कृति मंत्री और दोनों संस्कृति राज्य मंत्रियों को भेजे गए संदेश, उसके पश्चात भारत के प्रधानमंत्री, गृह मंत्री व संस्कृति मंत्री को सम्मेलन के माध्यम से जन-जागरण करते हुए भेजा गया पत्र तथा सोशल मीडिया पर निरंतर विभिन्न माध्यमों पर निरंतर भेजे गए संदेश से सरकार जगी है। संस्कृति मंत्रालय तिरंगा झंडा प्रमाण-पत्र हिंदी एवं अन्य भारतीय भाषाओं में जारी करने लगा है। इसी प्रकार भविष्य में भी हमें भारतीय भाषाओं के मुद्दों पर मजबूती से खड़े रहकर संघर्ष करना होगा।

(सौजन्य:वैश्विक हिन्दी सम्मेलन, मुम्बई)