कुल पृष्ठ दर्शन : 357

प्रेम के ताने-बाने में गुथी कहानियों का गुलदस्ता है ‘नदी-सी तुम’

विमोचन-चर्चा…..

इंदौर(मप्र)।

मेरे प्रथम कहानी संग्रह ‘नदी-सी तुम’ में २३ कहानियां हैं,जो रोचक और मार्मिक है। बचपन से ही मुझे पढ़ने का शौक रहा है। इसी शौक ने मुझे लेखन के लिए प्रेरित किया। मेरी कहानी का केन्द्र बिंदु प्रेम है। प्रेम एक व्यापक शब्द है,जिसमें आशा, निराशा,संवेदना,विश्वास,प्रतीक्षा सभी कुछ है। इसी को आधार बनाकर मैंने यह कृति लिखी है।
इंदौर संभाग की संयुक्त आयुक्त श्रीमती सपना शिवाले सोलंकी ने अपनी पहली कृति ‘नदी-सी तुम’ के बारे में यह विचार व्यक्त किए। कहानी संग्रह ‘नदी-सी तुम’ के विमोचन एवं चर्चा का यह कार्यक्रम इंदौर प्रेस क्लब में किया गया।
अध्यक्षता करते हुए के.के. बिड़ला फाउंडेशन द्वारा व्यास सम्मान से अलंकृत वरिष्ठ ऐतिहासिक उपन्यासकार एवं कथाकार शरद पगारे ने कहा कि नदी और नारी दोनों ही जीवन देती हैं और दोनों के बगैर जीवन असंभव है। लेखिका ने अपनी रचनाओं में प्रेम को बहुत ही व्यापक तरीके से अभिव्यक्त किया है,जो सराहनीय है।
मुख्य अतिथि म.प्र. साहित्य अकादमी के निदेशक डॉ. विकास दवे ने कहा कि कहानी संग्रह की सभी कहानियां सामाजिक सरोकार से जुड़ी हुई हैं, जिसमें स्त्री को केवल देह तक सीमित न रखकर उसे माँ,बहन के रूप में परिभाषित किया है। आज ऐसे ही लेखन की जरूरत है।
संभाग आयुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने कहा कि लेखिका ने तमाम प्रशासनिक और पारिवारिक व्यस्तताओं के बावजूद लेखन कर्म कर एक ऐसी कृति को जन्म दिया,जिसकी जितनी सराहना की जाए कम है। मैंने स्वयं कुछ कहानियां पढ़ी, जिसमें प्रेम के साथ आत्मीयता और सुख-दुख के पहलू हैं। ऐसी कहानियां तनाव को भी दूर करती हैं।
वरिष्ठ कहानीकार मनीष वैद्य ने कहा कि प्रेम सर्वोपरि है। केवल कल्पना से ही कहानी नहीं लिखी जा सकती और न केवल यथार्थ से। कल्पना और यथार्थ मिलकर ही कहानी को गढ़ते हैं। यह बातें मुझे लेखिका के कहानी संग्रह में देखने को मिली।
विषय प्रवर्तन क्लब के अध्यक्ष अरविंद तिवारी ने किया।
कार्यक्रम का प्रारंभ दीप प्रज्ज्वलन से हुआ। सरस्वती वंदना सुश्री वाणी जोशी ने की। अतिथियों का स्वागत अध्यक्ष अरविंद तिवारी,महासचिव हेमन्त शर्मा आदि ने किया। इस मौके पर अपर आयुक्त संदीप सोनी,संपदा अधिकारी राजकुमार हलधर सहित वरिष्ठ साहित्यकार हरेराम वाजपेयी, डॉ. सुशीम पगारे,प्रकाश हिंदुस्तानी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
संचालन वरिष्ठ पत्रकार मुकेश तिवारी ने किया। आभार उपाध्यक्ष प्रदीप जोशी ने माना।

Leave a Reply