Visitors Views 58

`मत` डालने निश्चित जाना

श्रीकृष्ण शुक्ल
मुरादाबाद(उत्तरप्रदेश) 
*****************************************************************
मौसम आया फिर चुनाव का,
फिर अपनी सरकार बनाना।
लेकिन अवसर चूक न जाना,
वोट डालने निश्चित जानाll

प्रत्याशी लेकर आए हैं,
लोक लुभावन ढेरों वादेl
जनता भी है भोली-भाली,
समझ न पाती कुटिल इरादे॥

पहले इनकी चाल परखना,
तदुपरान्त अच्छे को चुननाl
लेकिन आलस में मत पड़ना,
वोट डालने निश्चित जानाll

एक-एक मत का महत्व है,
अपने मत को व्यर्थ न करनाl
बूँद-बूँद से घट भरता है,
बात सभी को ये समझाना॥

जात-धर्म से ऊपर उठकर,
अच्छे प्रत्याशी को चुननाl
लेकिन आलस में मत पड़ना,
वोट डालने निश्चित जानाll

मतगणना में भी प्रत्याशी,
होते रहते आगे-पीछेl
कहीं तुम्हारे एक वोट से,
योग्य नहीं रह जाए पीछे॥

वो हारा तो तुम हारोगे,
पाँच साल तक फिर पछतानाl
गाँठ बाँध लो भैय्या-बहिना,
वोट डालने निश्चित जानाll

परिचय-श्रीकृष्ण शुक्ल का साहित्यिक उपनाम `कृष्ण` हैl इनका जन्म तारीख ३० अगस्त १९५३ तथा जन्म स्थान-मुरादाबाद हैl वर्तमान में मुरादाबाद में बसे हुए श्री शुक्ल का स्थाई घर भी मुरादाबाद ही हैl उत्तर प्रदेश वासी श्री शुक्ल ने परास्नातक(अर्थशास्त्र)और तथा सीएआईआईबी की पढ़ाई की हैl आपका कार्यक्षेत्र-बैंक में नौकरी (सेवानिवृत्त अधिकारी)का रहा हैl सामाजिक गतिविधि के निमित्त आप सहजयोग आध्यात्मिक संस्था के माध्यम से ध्यान एवं तनावमुक्त जीवन यापन हेतु प्रचार-प्रसार में सक्रिय रहते हैंl लेखन विधा देखी जाए तो-गीत, ग़ज़ल,मुक्तक,दोहे,छंदमुक्त तथा सामयिक विषयों पर लेखन जारी हैl भाषा ज्ञान-हिन्दी एवं अँग्रेजी का रखते हैंl प्रकाशन के तहत साझा संग्रह-छाँव की बयार,उजास एवं काव्यधारा आपके खाते में है तो रचनाओं का प्रकाशन कई दैनिक और अन्य पत्र-पत्रिका में समय-समय पर होता रहता हैl इनको प्राप्त सम्मान में मुरादाबाद से काव्य प्रतिभा सम्मान ,रामपुर से काव्यरथी व काव्यधारा पीयूष सम्मान सहित ज्ञान मंदिर पुस्तकालय द्वारा वर्ष २०१८ का साहित्यकार सम्मान ख़ास हैl यह ब्लॉग पर भी अपने विचार रखते हैंl इनकी लेखनी का उद्देश्य-समाज को जागृत करना हैl आपके लिए प्रेरणा पुंज-प्रो.राजेश चंद्र शुक्ल हैंl रुचि-आध्यात्मिक चिंतन,ध्यान,लेखन तथा पुस्तकें पढ़ना हैl