Visitors Views 132

रोजगार

बोधन राम निषाद ‘राज’ 
कबीरधाम (छत्तीसगढ़)
********************************************************************
रोजगार मिलता कहाँ,मारामारी आज।
जनसंख्या विकराल है,अब क्या करे समाजll

काम मिले कुछ और को,आधे हैं बेकार।
गुंडागर्दी शौक है,करते अत्याचार ll

शिक्षित अनपढ़ साथ में,मिलकर करते काज।
सभी समस्या मूल से,हल हो जाती आज ll

हर समाज को चाहिए,मिलकर कदम उठाय।
अपना पैतृक कार्य को,करते चित्त लगाय ll

रोजगार है हर जगह,आओ करें उपाय।
नवयुवकों तैयार हो,जो चाहो मिल जाय ll