Visitors Views 22

संस्कृति का नव-वर्ष

हेमलता पालीवाल ‘हेमा’
उदयपुर (राजस्थान )
***************************************************

हिन्दुत्व का नव-वर्ष है,
संस्कृति का उत्कर्ष है।

नव पराग हुए अंकुरित,
पुष्प हो गए सुगंधित
चंहुओर उमंग,हर्ष हैl
हिन्दुत्व का नव-वर्ष है,
संस्कृति का उत्कर्ष है।

श्रीराम,हनुमान का प्राकृट्य है,
महापुरुषों का अवतरण है
नव प्रभात का श्रीगणेश हैl
हिन्दुत्व का नव-वर्ष है,
संस्कृति का उत्कर्ष है।

नव किसलिए पल्लवित है,
शाखाएँ हरित शोभित है
नव कोपलें वट पर हर्ष है,
हिन्दुत्व का नव-वर्ष है,
संस्कृति का उत्कर्ष हैll

परिचय – हेमलता पालीवाल का साहित्यिक उपनाम – हेमा है। जन्म तिथि -२६ अप्रैल १९६९ तथा जन्म स्थान – उदयपुर है। आप वर्तमान में सेक्टर-१४, उदयपुर (राजस्थान ) में रहती हैं। आपने एम.ए.और बी.एड.की शिक्षा हासिल की है। कार्यक्षेत्र-अध्यापन का है। लेखन विधा-कविता तथा व्यंग्य है। आपकी लेखनी का उद्देश्य-  साहित्यिक व सामाजिक सेवा है।