कुल पृष्ठ दर्शन : 230

You are currently viewing साहित्य सृजन मंच ने किया राष्ट्रीय कवि सम्मेलन व सम्मान समारोह

साहित्य सृजन मंच ने किया राष्ट्रीय कवि सम्मेलन व सम्मान समारोह

बहादुरगढ़। 

हिमालयन अपडेट साहित्य सृजन मंच के तत्वावधान में राष्ट्रीय कवि सम्मेलन एवं सम्मान समारोह आयोजित किया गया, जिसमें अनेक राज्यों से कवियों-कवयित्रियों ने भाग लिया। यह कार्यक्रम ‘हिंद की अभिलाषा, हिंदी बने राष्ट्रभाषा’ अभियान के अन्तर्गत किया गया।
शुभारंभ संस्था के संस्थापक अनिल जामवाल ने स्वागत भाषण से किया। उन्होंने सृजन की राष्ट्रीय संरक्षक कवयित्री दीपशिखा श्रीवास्तव ‘दीप’ को मंच पर आमंत्रित किया। मंचासीन अतिथियों व कवि-कवयित्रियों द्वारा माँ सरस्वती को माल्यार्पण व दीप प्रज्वलन के पश्चात् अंजलि श्रीवास्तव द्वारा माँ शारदे की सुमधुर वंदना से सम्मेलन का शुभारंभ हुआ। अध्यक्षता साहित्यकार कृष्ण गोपाल विद्यार्थी ने की। मुख्य अतिथि एसीपी शाहिदा परवीन गांगुली, अति विशिष्ट अतिथियों के रूप में रेडियो बूज के संस्थापक डॉ. मुकेश गंभीर, साहित्यकार वीणा अग्रवाल व राजपाल यादव की उपस्थिति रही । इस अवसर पर श्री जामवाल व दीपशिखा श्रीवास्तव ने सभी अतिथियों एवं कवि-कवयित्रियों को शॉल, स्मृति चिन्ह व पुष्पहार भेंट कर ससम्मान मंचासीन किया। अतिथियों ने अपडेट के हिंदी साहित्य विशेषांक का लोकार्पण भी किया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि आमंत्रित कविगणों ने बेहतरीन काव्य पाठ से उपस्थित श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। पाठ का प्रारंभ उपेंद्र फतेहपुरी की ओजस्वी वाणी से हुआ। तत्पश्चात् चित्तौडगढ़ से आए कवि प्रहलाद मराठा क्रांति ने हिंदी भाषा को अपनाने की प्रेरणा देते हुए जोशीले अंदाज में बेहतरीन रचना का पाठ किया। मेरठ की मनु लक्ष्मी मिश्रा ने जहां प्रेम रंग बिखेरा, वहीं सोनिया रूह की ग़ज़लों ने पूरे वातावरण को सूफियाना कर दिया। कृष्ण गोपाल विद्यार्थी ने मुक्तकों से कार्यक्रम को विराम दिया। संचालन युवा कवयित्री अंजू सिंह ने किया। हरियाणा इकाई के उपाध्यक्ष कुमार राघव ने सभी का आभार प्रकट किया।

Leave a Reply