रचना पर कुल आगंतुक :206

You are currently viewing स्वागत है नववर्ष

स्वागत है नववर्ष

ताराचन्द वर्मा ‘डाबला’
अलवर(राजस्थान)
***********************************************

गुड़ी पड़वा विशेष….

स्वागत है नव वर्ष तुम्हारा,
स्वीकार करो अभिनन्दन हमारा
देकर खुशियाँ सम्पूर्णं विश्व को,
तुम हरो त्रस्त जगत का सारा।

हर मन में हो एक नई आशा,
बोलें सभी प्रेम की भाषा
पट जाए कटुता की खाई,
जीवन में ना आए निराशा।

जन-जन में सद्भाव जगे,
बुरी ना किसी की बात लगे
हर घर में फैले उजियारा,
सब नैतिकता का पाठ पढे़।

कोई भी भूखे पेट न सोए,
सभी सम्पन्नता के बीज बोएं
नववर्ष के शुभअवसर पर,
कर्जे से ना कोई रोए।

नया जोश हो नया हो उल्लास,
खुशियों का आलम करें उजास।
महक जाएं जीवन में खुशियाँ,
सबका ऐसा हर दिन हो खास॥

परिचय- ताराचंद वर्मा का निवास अलवर (राजस्थान) में है। साहित्यिक क्षेत्र में ‘डाबला’ उपनाम से प्रसिद्ध श्री वर्मा पेशे से शिक्षक हैं। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में कहानी,कविताएं एवं आलेख प्रकाशित हो चुके हैं। आप सतत लेखन में सक्रिय हैं।

Leave a Reply