कुल पृष्ठ दर्शन : 289

उठो,जागो…

ललित प्रताप सिंह
बसंतपुर (उत्तरप्रदेश)

************************************************

उठो,जागो…,
फिर से नयी शुरूवात करोl

खत्म हो गये हैं जो रिश्ते,
उनसे फिर शुरू बात करो
अगर जो मानें तो बेहतर,
नहीं फिर दरकिनार करोl
उठो,जागो…

बहुत लोग मिलेंगे जीवन में,
उनके बारे में सब ज्ञात करो
लगे जो भी मृदुभाषी तुमको,
उन्हीं का बस चुनाव करोl
उठो,जागो…

भटक गये जो लक्ष्य से तुम,
तो जीवनभर पछताओगे
दुनियादारी में फिर पड़ कर,
बस मिट्टी में मिल जाओगेl
उठो,जागो…

कब तक लड़ोगे तुम सबसे,
अब खत्म सब तकरार करो
सब है अपने ये भाई-बन्धु,
ये सोचकर सबसे प्यार करोl
उठो जागो…ll

परिचय : ललित सिंह का निवास जिला रायबरेली स्थित ग्राम बसंतपुर (उत्तरप्रदेश)में है ।वर्तमान में बीएससी की पढ़ाई के साथ ही लेखन भी जारी है । लेखन में आपको श्रृंगार विधा में लिखना अधिक पसंद है । कई स्थानीय पत्रिकाओं में आपकी रचना प्रकाशित हुई है । ललित प्रताप सिंह का साहित्यिक उपनाम-ललित है। जन्मतिथि ४ जुलाई १९९९ और जन्मस्थान-होशियारपुर(पंजाब) है।कार्यक्षेत्र में आप विद्यार्थी हैं,तो लेखन विधा-कविता और ग़ज़ल जो श्रृंगार रस में लिखना हैl प्रकाशन में श्री सिंह का साझा काव्य संग्रह शीघ्र ही आने वाला हैl आप ब्लॉग पर भी अपनी बात रखते हैंl आपकी नजर में लेखनी का उद्देश्य-हिन्दी का प्रचार करना हैl

Leave a Reply