कुल पृष्ठ दर्शन : 317

You are currently viewing कर हौंसला बुलंद

कर हौंसला बुलंद

ताराचन्द वर्मा ‘डाबला’
अलवर(राजस्थान)
***************************************

अटल’ जिंदगी…

हो जिनके इरादे नेक,
और मन्जिल भी हो एक
वो तूफानों से नहीं घबराते हैं,
बस आगे बढ़ते जाते हैं।
नम्र स्वभाव के धनी होते हैं,
वो पत्थर दिल पिघलाते हैं
भले ही किनारा दूर सही,
वो निश्चित लक्ष्य बनाते हैं।
तू उठ, कर हौंसला बुलंद,
तेरा मार्ग प्रशस्त कराते हैं
कितने भी हों कठिन रास्ते,
वो मंजिल तक पहुंचाते हैं।
हो जिनका विश्वास ‘अटल’,
वो ही ‘वाजपेयी’ कहलाते हैं॥

परिचय- ताराचंद वर्मा का निवास अलवर (राजस्थान) में है। साहित्यिक क्षेत्र में ‘डाबला’ उपनाम से प्रसिद्ध श्री वर्मा पेशे से शिक्षक हैं। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में कहानी,कविताएं एवं आलेख प्रकाशित हो चुके हैं। आप सतत लेखन में सक्रिय हैं।

Leave a Reply