कुल पृष्ठ दर्शन : 125

You are currently viewing कवि सम्मेलन में किए भ्रष्टाचार पर प्रहार

कवि सम्मेलन में किए भ्रष्टाचार पर प्रहार

मंडला (मप्र)।

ऑनलाइन भव्य कवि सम्मेलन नि:स्वार्थी साहित्य समूह ढाणा झज्जर (हरियाणा) के द्वारा आयोजित किया गया।
इसमें आगुंतक मेहमान कवि-कवियत्रियों ने देश के कई प्रांतों से हिस्सा लिया।
इसमें प्रियंका भूतड़ा ने माँ सरस्वती वंदना और स्वागत गीत उन्नाव की राष्ट्रीय कवियत्री एकता गुप्ता ने प्रस्तुत किया। लगभग ३ घंटे चले इस सम्मेलन में प्रो. (डॉ.) शरद नारायण खरे-मंडला की ग़ज़ल-‘मत कहो आकाश में कुहरा घना है। मित्र अब भी श्रेष्ठ की संभावना है॥’ खूब सराही गई। हरियाणा से बलबीर सिंह ढाका, डॉ. देवीराम शर्मा, मप्र से सतीश शिकारी, इंदौर से कवियत्री डॉ. कृष्णा जोशी एवं छत्तीसगढ़ से एस.के. रूप मुख्य अतिथि रहे। मंच के संस्थापक अशोक जाखड़ ने सभी का धन्यवाद ज्ञापन किया।निर्दोष जैन ने भी भ्रष्टाचार पर कविता सुना कर महफिल को सफल बनाया।

Leave a Reply