कुल पृष्ठ दर्शन : 171

You are currently viewing केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय के सहयोग से ‘कंडी की सांस्कृतिक विरासत’ प्रकाशित

केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय के सहयोग से ‘कंडी की सांस्कृतिक विरासत’ प्रकाशित

होशियारपुर (पंजाब)।

शिवालिक पहाड़ियों वाले पंजाब के गुरदासपुर, होशियारपुर, नवांशहर, रूपनगर व पटियाला के भू-भाग को ‘कंडी का इलाका’ नाम से भी जाना जाता है। इस क्षेत्र की अपनी अलग सांस्कृतिक पहचान है। इस होशियारपुर ज़िला में रहने वाले डॉ. धर्मपाल साहिल ने उपर्युक्त ‘कंडी’ की सांस्कृतिक धरोहर पर कुछ शोधपरक कार्य किया है। इसके अन्तर्गत इस क्षेत्र की बोली, लोकगीत, मुहावरे, लोकोक्तियाँ और रीति-रिवाज आदि है। पंजाब में लम्बे समय से लोक-भाषा व संस्कृति पर आधारित हिन्दी शोधकार्य नहीं हुए हैं। ऐसे में, इस कार्य की महत्ता को समझते हुए केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय ने सहयोग देकर उपर्युक्त कार्य को पुस्तकाकार में प्रकाशित करवाया है। नि:स्संदेह भविष्य में शोधार्थी इस कार्य से लाभान्वित होंगे।

Leave a Reply