Visitors Views 49

घर-घर आये नेता जी

बोधन राम निषाद ‘राज’ 
कबीरधाम (छत्तीसगढ़)
********************************************************************
नेता घूमते गाँव में,माँगन को वो वोट।
तरह-तरह के वायदे,बरसाते वो नोटll

घर-घर आते हैं सभी,नेता करते बात।
जनता लालच में फँसे,देते हैं सौगातll

पाँच वर्ष की नौकरी,पाते हैं वो आज।
अपनी झोली हैं भरे,करते हैं वो राजll

झूठ कपट मन में बसे,मुँह में मीठा बोल।
एक वोट है कीमती,जानो इसका मोलll

नेता प्यारा देश का,जो हो सच्चा यार।
आओ प्यारे साथियों,चुनो सही सरकारll