Visitors Views 52

चुनाव

सौदामिनी खरे दामिनी
रायसेन(मध्यप्रदेश)

******************************************************

सत्यता की शपथ वह खाने लगे हैं,
जबसे चुनाव करीब आने लगे हैं।
फिर वादों का अंबार होगा,
फिर माइक पे एलान होगा
फिर एक दूजे पे लांछन लगाने लगे हैं।
जबसे चुनाव करीब…

सत्ता इन पर अजब है नशा,
राजनीति के अखाड़े में बुरी है दशा।
वह कुर्सी के चक्कर में बौराने लगे हैं,
जबसे चुनाव करीब आने…

धर्म और ईमान का कुछ डर नहीं,
सही को गलत और गलत,बताते सही।
साम-दाम-दण्ड-भेद की नीति अपनाने लगे हैं,
जबसे चुनाव करीब…

पहले नेतागिरी में समाजसेवा थी,
अब नेतागिरी में स्वयंसेवा है।
सड़कों पे नेतागिरी में आने लगे हैं,
जबसे चुनाव करीब…आने लगे हैंll

परिचय-सौदामिनी खरे का साहित्यिक उपनाम-दामिनी हैl जन्म-२५ अगस्त १९६३ में रायसेन में हुआ हैl वर्तमान में जिला रायसेन(मप्र)में निवासरत सौदामिनी खरे ने स्नातक और डी.एड. की शिक्षा हासिल की हैl व्यवसाय-कार्यक्षेत्र में शासकीय शिक्षक(सहायक अध्यापक) हैंl आपकी लेखन विधा-गीत,दोहा, ग़ज़ल,सवैया और कहानी है। ब्लॉग पर भी लेखन में सक्रिय दामिनी की लेखनी का उद्देश्य-लेखन कार्य में नाम कमाना है।इनके लिए प्रेरणापुन्ज-श्री प्रभुदयाल खरे(गज्जे भैया,कवि और मामाजी)हैंl भाषा ज्ञान-हिन्दी का है,तो रुचि-संगीत में है।