कुल पृष्ठ दर्शन : 219

You are currently viewing जैन कवि संगम के अधिवेशन में हुआ काव्य पाठ संग सम्मान

जैन कवि संगम के अधिवेशन में हुआ काव्य पाठ संग सम्मान

उज्जैन (मप्र)।

जैन कवि संगम का चतुर्थ राष्ट्रीय अधिवेशन ढाईदीप विरायतन तीर्थ पर हुआ। प्रथम सत्र में मुख्य अतिथि सर्वश्री अजय जैन, सुनील गांग व ब्रजराज ब्रज रहे।
स्वागत उद्बोधन संस्थापक अध्यक्ष नरेन्द्रपाल जैन ने दिया। स्वागत गीत से सुश्री शगुन सरगम ने उपस्थित कवियों का सम्मान किया। इस सत्र में राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जैन ने संगम के सफर पर प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। आयोजन में गीतकार कैलाश तरल को ‘ओम पारदर्शी सम्मान’ दिया गया। अधि. में नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषणा कर अध्यक्ष जगदीप हर्षदर्शी का नाम सर्वानुमति से स्वीकृत किया गया।
दूसरे सत्र में विनोद बाफना, विजयसिंह नाहटा, नीलमचंद सांखला व राजेन्द्र कांठेड़ अतिथि रहे। सत्र में वरिष्ठ कवियों का सम्मान किया गया। आयोजन में राजेश जैन ‘राही’ की कृति ‘नमोस्तु’ का लोकार्पण किया गया।
तीसरे सत्र में काव्यपाठ रखा गया, जिसमें विभिन्न राज्यों से आए ८० कवियों ने नवरस की बौछार की। तत्पश्चात चतुर्थ सत्र में सभी को विदाई दी गई।