Visitors Views 26

दोस्त

रितिका सेंगर 
इंदौर (मध्यप्रदेश)
******************************************************

एक तूफान आया,
और टूट गया मेरा..आ..शियाना…
भीड़ रिश्तेदारों की,
मेरे साथ
बहा रही थी आँ..सू,
मेरी आँखें तलाश रही थी
दोस्त को मेरे,
खबर नहीं थी मुझेl
वो तिनके चुन रहा था,
मेरा आशियाना बनाने के लिएll