कुल पृष्ठ दर्शन : 164

You are currently viewing निदेशक डॉ. दवे द्वारा ‘भीगी-भीगी दो आँखें’ विमोचित

निदेशक डॉ. दवे द्वारा ‘भीगी-भीगी दो आँखें’ विमोचित

मंडीदीप(मप्र)।

हॉल इंडस टाउन में बाड़ी नगर के गौरव देवेश कुमार श्रीवास्तव ‘देव’ के ग़ज़ल संग्रह ‘भीगी-भीगी दो आँखें’ का विमोचन प्रदेश- देश के प्रसिद्ध साहित्यकारों की उपस्थिति में किया गया। इसकी अध्यक्षता साहित्य अकादमी (मप्र शासन) के निदेशक डॉ. विकास दवे ने की।
मुख्य अतिथि के रूप में उर्दू अकादमी (मप्र) की निदेशक डॉ. नुसरत, विशिष्ट अतिथि वरिष्ठ ग़ज़लकार महेश अग्रवाल एवं सारस्वत अतिथि गौहरगंज से साहित्यकार चंद्रशेखर श्रीवास्तव उपस्थित रहे। प्रसिद्ध समीक्षक हरेराम समीप द्वारा लिखी गई पुस्तक समीक्षा का वाचन ग़ज़लकार बलराम धाकड़ ने किया। इस अवसर पर लेखक के परिजनों के अतिरिक्त मित्र भी सपरिवार उपस्थित रहे। इंदौर से आए प्रसिद्ध ग़ज़ल गायक महेश राव ने चुनिंदा ग़ज़लों की खूबसूरत प्रस्तुति दी। ‘देव’ की सुप्रसिद्ध रचना ‘बाबूजी’ का जब स्वयं ने वाचन किया तो सभागार में मौजूद हर आँख नम थी। इस अवसर पर अशोक निर्मल, ऋषि श्रंगारी, हरिवल्लभ शर्मा, प्रियंका श्रीवास्तव और राजेश सत्यम आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ कवयित्री रक्षा दुबे द्वारा किया गया।