कुल पृष्ठ दर्शन : 343

You are currently viewing फैले रोशनी

फैले रोशनी

अजय जैन ‘विकल्प’
इंदौर(मध्यप्रदेश)
******************************************

झिलमिलाएं,
हर मन के दीप-
जगमगाएँ।

रंग सजाएँ,
हो ज्योति का उत्सव-
मनभावन।

देहरी दीप,
भरोसा रखें सब-
हैं कल्पनाएँ।

हो दूर तम,
फैले रोशनी दिशा-
शुभकामना।

करें प्रार्थना,
भलाई हो जग में-
सब मुस्काएं॥

Leave a Reply