कुल पृष्ठ दर्शन : 234

You are currently viewing मानव होने का मान रखो

मानव होने का मान रखो

राधा गोयल
नई दिल्ली
******************************************

भारत में रहते हो,उसका सम्मान तुम्हें करना होगा,
संविधान का पालन सबको इक समान करना होगा।

मानवता धर्म हमारा है,मानव होने का मान रखो,
ईश्वर अल्लाह ईसा मसीह का थोड़ा तो सम्मान रखो।

मजहब हों चाहे अलग- अलग,पर हम सब हिन्दुस्तानी हैं।
सीमा पर जिनका रूधिर बहा,वो रुधिर भी हिन्दुस्तानी है।

हम शान्ति दूत हैं,लेकिन तूने हमको कायर समझ लिया,
बेअक्ल अरे ओ कूढ़मगज़ तूने कैसे ये सोच लिया ?

नापाक पाक,तेरी पूजा अब गोली से की जाएगी,
जो आँख जरा भी टेढ़ी की,वो आँख फोड़ दी जाएगी।

तू काश्मीर चिल्लाता है,हम पूरा पाक हड़प लेंगे,
तू अब भी अगर नहीं सुधरा,तेरा भूगोल बदल देंगे॥

Leave a Reply