कुल पृष्ठ दर्शन : 352

You are currently viewing हिंदी साहित्य संगम’ ने ‘श्रृंग’ की पुण्यतिथि पर किया सम्मान और कवि सम्मेलन

हिंदी साहित्य संगम’ ने ‘श्रृंग’ की पुण्यतिथि पर किया सम्मान और कवि सम्मेलन

मुरादाबाद(उप्र)।

‘हिंदी साहित्य संगम’ के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में ‘वैश्विक हिंदी सम्मेलन’ के निदेशक डॉ. मोतीलाल गुप्ता ‘आदित्य’ ने भाग लिया। संस्था के संस्थापक कीर्तिशेष साहित्यकार राजेन्द्र मोहन शर्मा ‘श्रृंग’ की पुण्यतिथि पर इस कार्यक्रम में वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. पूनम बंसल को सम्मानित किया गया। कवि सम्मेलन में कवियों ने एक से एक बढ़कर भावनात्मक,प्रासंगिक और जन चेतना की कविताएं पढ़ीं। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. महेश दिवाकर ने की। डॉ. मोतीलाल गुप्ता ‘आदित्य’ ने भी ‘मुझको इंडिया मत कहना,मैं भारत हूं’ कविता पढ़ी। डॉ. बंसल की कविताओं ने भाव विभोर कर दिया। आयोजन महासचिव राजीव ‘प्रखर’ तथा कार्यकारी महासचिव जितेन्द्र कुमार जौली ने किया। कार्यक्रम में अशोक विद्रोही,रानी इंदू,मीनाक्षी ठाकुर,शिशुपाल मधुकर,योगेंद्र वर्मा ‘व्योम’,राशिद मुरादाबादी तथा मनोज रस्तोगी आदि ने भी कविताएं पढ़ी।
कार्यक्रम में डॉ. गुप्ता ने भारत नाम को अपनाने और हिंदी सम्मेलन’ के भारतीय भाषाओं को बचाने और बढ़ाने के अभियान के उद्देश्यों को भी सभी उपस्थितों के समक्ष प्रस्तुत किया। आपने अनुरोध किया कि,भाषाएँ बचेंगी तो ही साहित्य भी बचेगा। इसलिए सभी क्षेत्रों में हिंदी को प्रतिष्ठित करने के लिए प्रयास करने होंगे।

(सौजन्य:वैश्विक हिंदी सम्मेलन,मुंबई)

Leave a Reply