कुल पृष्ठ दर्शन : 205

बॉलीवुड चला दक्षिण सिनेमा की तरफ

इदरीस खत्री
इंदौर(मध्यप्रदेश)
************************************************

दक्षिण सिनेमा में तेलगू,मलयालम,कन्नड़ भाषी फिल्में होती हैं। जैसे इत्र अपनी महक देगा ही देगा,वैसे ही दक्षिण भारतीय फिल्मों ने न केवल देश में,वरन विदेशों तक साख बना ली है।बाहुबली ने चाइना में २००० करोड़ का व्यापार किया था। बाहुबली,रोबोट,अपरिचित जैसी फिल्मों ने न केवल बॉलीवुड को शर्मसार किया है,बल्कि आईना भी दिखा दिया है कि,दक्षिण भारतीय फिल्म निर्माण में बॉलीवुड को पीछे छोड़ चुके हैं।
कुछ तथ्य बॉलीवुड के पिछड़ने के-
बॉलीवुड सिनेमा स्टारडम का मोहताज हो गया है,नए विषयों पर बॉलीवुड जोखिम नहीं ही लेता, प्रयोगधर्मिता से डरता है,बॉलीवुड सफलता का पैमाना सिर्फ टिकिट खिड़की को मानने लगा है,अद्यतन (अपडेशन)को स्वीकार करना नहीं चाहता,लेकिन दक्षिण भारतीय सिनेमा इन सबमें पार निकल गया है।
हॉलिया फ़िल्म कबीर सिंह दक्षिण की फ़िल्म अर्जुन रेड्डी की नकल थी। सलमान खान की दूसरी पारी वांटेड से शुरू हुई,जो दक्षिण भारतीय फिल्म पोकीरेती की नकल थी। इससे पहले सलमान की तेरे नाम भी सेथु की नकल थी। बाद में सलमान ने बॉडीगार्ड, किक,जय हो,रेडी में काम किया,जो तमिल,तेलगू,मलयालम फिल्मों की नकल ही थी। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर धमाल भी मचा गई थी।
ऐसे ही अक्षय कुमार ने राउडी राठौर,हॉलि-डे में काम किया,जो दक्षिण की नकल ही थी।लक्ष्मी बम(बाद में लक्ष्मी नाम से प्रदर्शित) मुनि २ की नकल थी। अजय देवगन ने सिंघम,दृश्यम तो रणवीरसिंह ने टेम्पर की नकल सिम्बा में काम किया।
इधर,टाइगर बागी की श्रंखला कर रहे हैं।बागी २ दक्षिण की छेड़म और बागी ३ भी विटई का पुनर्निर्माण(नकल री-मेक)थी।
अब बॉलीवुड की उन फिल्मों पर चर्चा कर लेते हैं, जो दक्षिण की फिल्मों की नकल होंगी-
विक्रम बेढ़ा- आमिर खान गैंगस्टरऔर सैफ अली खान पोलिस वाले के किरदार में होंगे। निर्देशक तमिल फिल्म के ही पुष्कर और गायत्री होंगे। *वीरम-* जिसे हिंदी मेंकभी ईद कभी दीवालीसे बनाया जा रहा है।वीरममें अजीथ कुमार थे, निर्देशन किया था शिवा ने। ५ भाइयों की कहानी थी इसमें। फ़िल्म ईद दिवाली के साजिद नाडियाडवाला निर्माता बन रहे हैं तो बड़े भाई के किरदार में सलमान खान होंगे। निर्देशक फरहाद सामजी होंगे। *कैथी-* तमिल भाषी फ़िल्म जिसका हिंदी मतलब होता हैकैदी।एक आम आदमी के कैदी बनने ओर पोलिस की मदद की कहानी है। इसके निर्देशक कनकराज थे। इस फ़िल्म पर अजय देवगन काम करने जा रहे हैं। शेष घोषणा बाकी है। *जर्सी-* तेलगू फ़िल्म को निर्देशित किया था गौतम ने। हिंदी नकल में शाहिद कपूर,पंकज त्रिपाठी लिए गए हैं। यह फ़िल्म इसी नाम से बन रही है। *कुली नम्बर १-* यह फ़िल्म १९९५ में आई गोविंदा और डेविड धवन की फ़िल्म की नकल बताई जा रही है,लेकिन यह खुद तमिल फिल्म की नकल थी। १९९३ में तमिल फिल्मचिन्नातमलाई की नकल थी। इस फ़िल्म को १९९५ में गोविंदा के साथ बनाया गया था। अब इस फ़िल्म की नकल बनाई जा रही है,जिसमें वरुण धवन, सारा अली खान,राजपाल यादव,जावेद जाफरी, जानी लिवर काम कर रहे हैं। यह फ़िल्म ओटीटी पर प्रदर्शित होनी है* *हिट-द फ़र्स्ट केस-* केवल घोषणा हुई है,शेष जानकारी बाकी है। *अला वैकुंठपुरमलो-* इस फ़िल्म में अल्लू अर्जुन ने मुख्य भूमिका निभाई थी। हिंदी नकल में कार्तिक आर्यन काम कर रहे हैं। *धडम-* तमिल थ्रिलर फिल्म को निर्देशित किया था थिरोमनी ने। अरुण विजय व तन्या का अभिनय था। कहानी २ हमशक्ल की है। हिंदी को वर्धन केतकर निर्देशित करेंगे,हमशक्ल की भूमिका सिद्धार्थ निभाएंगे। *आर एक्स १००-* तेलगू फ़िल्म को हिंदी मेंतड़पनाम से बनाया जा रहा है। हिंदी नकल को मिलन लथुरिया निर्देशित करेंगे। फ़िल्म से सुनील शेट्टी के पुत्र आहान प्रवेश करेंगे। तारा सुतारिया उनकी साथी कलाकार होंगी। *अंत में-* दक्षिण सिनेमा सन १९१२ से सक्रिय है। जब देश में फ़िल्म निर्माण में कदम रखे जा रहे थे,तब दक्षिण सिनेमा भी सक्रियता दिखाने लग गया था। आज दक्षिण सिनेमा द्वंद,भावना,दु:ख आदि सभी विषय पर बॉलीवुड को पीछे छोड़ आगे निकल गया है,क्योंकि एक फ़िल्मआर आर आरका बजट ४०० करोड़ से ज्यादा है,जबकि इधर तो फ़िल्म का बजट २०० करोड़ पार हो जाए तो वसूली का तनाव होने लगता है। दक्षिण की हीफ़िल्म` जलीकट्टू इस बार भारत से ऑस्कर में भी भेजी गई है। कुल मिलाकर दक्षिण सिनेमा ने न केवल खुद को परिष्कृत किया है,वरन अद्यतन भी किया है।

परिचय : इंदौर शहर के अभिनय जगत में १९९३ से सतत रंगकर्म में इदरीस खत्री सक्रिय हैं,इसलिए किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। परिचय यही है कि,इन्होंने लगभग १३० नाटक और १००० से ज्यादा शो में काम किया है। देअविवि के नाट्य दल को बतौर निर्देशक ११ बार राष्ट्रीय प्रतिनिधित्व नाट्य निर्देशक के रूप में देने के साथ ही लगभग ३५ कार्यशालाएं,१० लघु फिल्म और ३ हिन्दी फीचर फिल्म भी इनके खाते में है। आपने एलएलएम सहित एमबीए भी किया है। आप इसी शहर में ही रहकर अभिनय अकादमी संचालित करते हैं,जहाँ प्रशिक्षण देते हैं। करीब दस साल से एक नाट्य समूह में मुम्बई,गोवा और इंदौर में अभिनय अकादमी में लगातार अभिनय प्रशिक्षण दे रहे श्री खत्री धारावाहिकों और फिल्म लेखन में सतत कार्यरत हैं। फिलहाल श्री खत्री मुम्बई के एक प्रोडक्शन हाउस में अभिनय प्रशिक्षक हैंL आप टीवी धारावाहिकों तथा फ़िल्म लेखन में सक्रिय हैंL १९ लघु फिल्मों में अभिनय कर चुके श्री खत्री का निवास इसी शहर में हैL आप वर्तमान में एक दैनिक समाचार-पत्र एवं पोर्टल में फ़िल्म सम्पादक के रूप में कार्यरत हैंL

Leave a Reply