कुल पृष्ठ दर्शन : 601

You are currently viewing दुनिया बचाने के लिए मोहब्बत को जिंदा रखना बहुत जरूरी-श्री मंडलोई

दुनिया बचाने के लिए मोहब्बत को जिंदा रखना बहुत जरूरी-श्री मंडलोई

विमोचन…

दिल्ली।

इस दुनिया को बचाने के लिए मोहब्बत को जिंदा रखना बहुत जरूरी है। नहीं तो न घर बचेगा, न ही समाज और न ही यह दुनिया बचेगी।
प्रसिद्ध कवि व भारतीय ज्ञानपीठ के पूर्व निदेशक लीलाधर मंडलोई ने रचनाकार रेणु हुसैन के काव्य संग्रह ‘घर की औरतें और चाँद’ के विमोचन समारोह की अध्यक्षता करते हुए यह बात कही। साहित्य अकादमी के सभागार में आयोजित इस समारोह में मुख्य अतिथि व ‘अमृत पत्रिका’ के सम्पादक लक्ष्मी शंकर वाजपेयी ने कहा कि, उन्हें खुशी है कि रेणु हुसैन की प्रतिभा व लेखन निरंतर निखरती जा रही है। वे चेतना और संवेदना को विस्तार दे रही हैं। प्रसिद्ध रचनाकार अनिल जोशी ने कहा कि, प्रकृति से तादात्म्य बनाती दिखती हैं रेणु हुसैन की कविताएं। प्रकृति के प्रति इन कविताओं में आत्मीयता है।
सभी वरिष्ठ रचनाकारों ने संग्रह का विमोचन किया। इस मौके पर रेणु हुसैन की माँ चंद्रावती शर्मा भी शामिल रहीं। कमलेश भारतीय (हिसार), सागर स्यालकोटी और नरेश शांडिल्य ने भी संग्रह पर बात रखी और शुभकामनाएं दीं। रेणु हुसैन ने प्रारम्भ में अपनी रचना प्रकिया पर बात रखने के बाद कुछ प्यारी-सी कविताओं का पाठ किया, जिन्हें खूब सराहा गया।
यह आयोजन जश्न-ए-हिंद की ओर से डाॅ. मृदुला टंडन ने किया। समारोह में देवेंद्र गोयल मांझी, अरूण कुमार, विम्मी करण सूद और रमेश प्रजापति आदि रचनाकार मौजूद रहे। संचालन कवियित्री ममता किरण ने किया।

Leave a Reply